बदायूं कांड अपडेट : मंदिर में महापाप का आरोपी महंत गिरफ्तार

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित शुक्रवार, 8 जनवरी 2021 (10:22 IST)
बदायूं। मंदिर महापाप का मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण सलाखों के पीछे पहुंच गया। बीती 3 जनवरी उघैती थाना क्षेत्र के एक मंदिर में आगंनबाडी सहायिका पूजा करने गई थी। मंदिर के तहंत और उसके दो साथियों ने आगंनबाडी सहायिका के साथ हैवानियत का खेल खेला।
ALSO READ:
UP के बदायूं में 50 वर्षीय महिला से गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में डाली रॉड, घंटों पड़ी रही लाश...
इन तीनों ने महिला भक्त के साथ गैंगरेप करके और उसके प्राइवेट पार्ट लोहे की रॉड से चोटिल किया था। पोस्टमार्टम में अधिक रक्त स्राव के चलते उसकी मौत हो गई।

घटना को अंजाम देने के बाद मंदिर के महंत सत्यनारायण और उसके दो साथी वेदराम व जसपाल बुलोरो गाड़ी में मृतक महिला को उसके घर यहकर छोड़ आये की कुएं में गिरने से 50 वर्षीय महिला की हालत हुई है। लेकिन महिला के शरीर से खून निकलना और नग्न होना उसके साथ हुए अनाचार की कहानी बयां कर रहा था।
आंगनबाड़ी सहायिका के परिवार ने उघैती थाने में शिकायत की। थाने से मामले में उदासीनता दिखाते हुए पीड़ित परिवार को वहां से भगा दिया। पीड़ित परिवार ने थककर 112 नम्बर पर मदद मांगी। पुलिस पहुंची और महिला को अस्पताल ले जाया इया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

मीडिया मामले सुर्खियों में लाया। प्रदेश के मुख्यमंत्री का पारा चढ़ गया और उच्चाधिकारियों को घटना स्थल पर भेजा गया। पुलिस ने पीड़िता 48 घंटे बाद पोस्टमार्टम कराया। पीड़ित परिवार की तहरीर पर मंदिर के महंत और उसके दो साथियों पर मुकदमा दर्ज हुआ। वही बदायूं एसएसपी संकल्प शर्मा ने जांच में उघैती थाने के एस ओ राघवेंद्र और दरोगा को दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया।
इस पूरे मामले पर शासन की पैनी नजर थी, शासन के आदेश पर एसएसपी ने उघैती थाने के एसओ और दरोगा पर लापरवाही बरतने का दोषी मानते हुए मुकदमा दर्ज किया गया है।

वही पुलिस ने मृतक महिला के परिवार की शिकायत पर जसपाल और वेदराम को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन मुख्य अभियुक्त महंत सत्यनारायण फरार चल रहा था, जिसको बीती देर रात्रि में उसके ही गांव से गिरफ्तार कर लिया है।
महंत सत्यनारायण की गिरफ्तारी के बाद हैवानियत का शिकार बनी मृतका की आत्मा को शांति मिलेगी। हालांकि आगे इस तरह की वारदात को अंजाम देने से पहले आरोपी डरे, इसके लिए फास्ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलेगा और आरोपियों पर NSA की कार्रवाई की प्रक्रिया भी शुरू हो गई।



और भी पढ़ें :