1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. उत्तर प्रदेश
  4. sitapur accident : tractor tanker collides
Written By अवनीश कुमार
पुनः संशोधित रविवार, 2 अक्टूबर 2022 (09:57 IST)

सीतापुर में दर्दनाक हादसा, टैंकर व ट्रैक्टर की भिड़ंत में जिंदा जला टैंकर चालक

सीतापुर। उत्तर प्रदेश में कानपुर के बाद सीतापुर में देर रात एक बड़ा सड़क हादसा हो गया। हादसे में एक टैंकर की टक्कर ट्रैक्टर ट्राली से हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि अल्कोहल से भरा टैंकर सड़क पर पलट गया और टैंकर में आग लग गई और वही टैंकर में लगी आग की चपेट में ट्रैक्टर ट्राली भी आ गया। हादसे में टैंकर चालक की जिंदा जलकर मौत हो गई जबकि 5 लोग झुलस गए।
 
घायलों में 2 लोगों की हालत गंभीर होने पर लखनऊ ट्रामा सेंटर भिजवाया गया जबकि 3 लोगों को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के बाद घर भेज दिया गया है।
 
इस भीषण सड़क हादसे की सूचना मिलते ही डीएम अनुज सिंह एसपी घुले सुशील चंद्रभान सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। अल्कोहल भरे टैंकर व ट्रैक्टर ट्राली में लगी आग पर काबू पाने के लिए दमकल की पांच गाड़ियां मौके पर पहुंची। करीब 2 से 3 घंटे कड़ी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया जा सका।
 
क्या है मामला - सीतापुर के थाना थानगांव के पाऊ सरदार से एक ट्रैक्टर ट्राली में धान भरकर जिला मुख्यालय मंडी में धान बेचने जा रहे थे। तभी रास्ते में पड़ने वाले पतले पुल पर विपरीत दिशा से आ रहे अल्कोहल से भरे टैंकर से आमने-सामने टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि टैंकर पलट गया और अल्कोहल बार होने के कारण उसमें आग लग गई।
 
देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया वही टैंकर के अंदर चालक फस गया और चालक की मौके पर ही मौत हो गई वह अन्य लोगों की चित्कार सुनकर आसपास के लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस व दमकल को दी मौके पर पहुंची। दमकलकर्मियों ने 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया और वही पुलिस ने तत्काल 5 घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया जहां से दो घायलों को लखनऊ रेफर कर दिया गया है।
 
क्या बोले थाना प्रभारी - थाना प्रभारी ने बताया कि आग पर पूर्णत काबू पा लिया गया है। यातायात व्यवस्था सुचारू है।घायल 5 व्यक्तियों में से 3 व्यक्तियों के सामान्य चोट है 2 व्यक्तियों को ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है। टैंकर चालक की मृत्यु हो गई है। आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।
Edited by : Nrapendra Gupta 
ये भी पढ़ें
इंदौर कैसे बना लगातार 6 बार भारत का सबसे साफ़ शहर, जानिए स्वच्छता के सिक्सर की इनसाइड स्टोरी