मानवता शर्मसार : कोरोना संक्रमित मुर्दों के कपड़े चुराते, ब्रांडेड लेबल लगाकर बेच देते, 7 गिरफ्तार

पुनः संशोधित रविवार, 9 मई 2021 (19:02 IST)
बागपत। से देशभर में हाहाकार मचा हुआ है। इसी बीच इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जिला पुलिस ने कब्रिस्तान और श्मसान घाट से कफ़न और शवों के कपड़े चोरी कर उन्हें बाजार में बेचने वाले गिरोह के 7 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।
पुलिस के अनुसार मामला बागपत के बड़ौत कोतवाली इलाके का है, जहां यह गिरोह मानवता को शर्मसार करने के साथ ही कोविड-19 संक्रमण को भी दावत दे रहा था। बड़ौत के पुलिस क्षेत्राधिकारी आलोकसिंह ने रविवार को बताया कि एक कपड़ा व्यापारी समेत उसके अन्य साथी मिलकर श्मशान घाट, कब्रिस्तान से कफ़न और शव पर डाला गया चादर आदि चुरा लेते थे और उन वस्त्रों को इस्त्री करके ग्वालियर कंपनी का मार्का लगाकर बाजार में बेचते थे।

पुलिस ने बताया कि गिरोह पिछले 10 साल से यह काम कर रहा था। गिरफ्तार किए गए आरोपियों को कपड़ा व्यापारी रोजाना 300 रुपए मजदूरी दिया करता था।

आलोक सिंह ने बताया कि बड़ौत पुलिस ने शनिवार को कपड़ा व्यापारी प्रवीण जैन समेत उसके बेटे आशीष जैन, भतीजा ऋषभ जैन व अन्य राजू शर्मा, श्रवण शर्मा, बबलू कश्यप, शाहरुख खान सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया है, सभी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

सिंह के मुताबिक पकड़े गए अभियुक्तों के पास से पुलिस ने 520 सफेद व पीली चादर , 127 कुर्ता, 140 सफेद कमीज, 34 सफेद धोती, 12 गर्म शॉल रंगीन, 52 धोती महिला, 3 रिबन के पैकेट, 158 रिबन ग्वालियर, 1 टेप कटर, 112 ग्वालियर कंपनी के स्टिकर भी बरामद किए हैं। पकड़े गए आरोपियों पर बड़ौत पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की सुसंगत धाराओं के अलावा महामारी अधिनियम के तहत भी मामला दर्ज किया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :