होली की रंगबिरंगी शायरी

WD|
FILE

गुलजार खिले हो परियों के, और मंजिल की तैयारी हो
कपड़ों पर रंग के छींटों से खुशरंग अजब गुलकारी हो।

 

और भी पढ़ें :