Tokyo Olympics में भारत का सुपर संडे : पीवी सिंधु की ऐतिहासिक जीत के बाद भारतीय हॉकी टीम सेमीफाइनल में

Last Updated: रविवार, 1 अगस्त 2021 (23:01 IST)
मुख्यबिंदु
  • भारत के लिए ओलिंपिक में खास दिन रहा 1 अगस्त
  • सिंधू ने बैडमिंटन में जीता कांस्य पदक
  • पुरुष ने 49 साल सेमीफाइनल में बनाई जगह

टोक्यो। टोक्यो ओलिंपिक में रविवार का दिन भारत के लिए शानदार रहा। भारतीय खेलप्रेमियों के लिए दो खुशखबरी टोक्यो से आई। बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने कांस्य पदक जीता, वहीं भारतीय हॉकी टीम ने क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारतीय टीम ने ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराया। भारतीय हॉकी टीम 1980 में टॉप-4 और फिर फाइनल में पहुंची थी। तब भारत ने गोल्ड मेडल भी जीता था।

सेमीफाइनल में बेल्जियम से भिड़ेगा : भारतीय पुरुष हॉकी टीम ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराकर 41 वर्षों बाद पहली बार ओलंपिक के अंतिम चार में जगह बनाई। भारत 3 अगस्त को सेमीफाइनल में मौजूदा विश्व चैंपियन बेल्जियम से भिड़ेगा जिसने क्वार्टर फाइनल में स्पेन को 3-1 से हराया। दूसरा सेमीफाइनल ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के बीच खेला जाएगा। भारत की तरफ से दिलप्रीत सिंह (सातवें), गुरजंत सिंह (16वें) और हार्दिक सिंह (57वें मिनट) ने गोल किए। ग्रेट ब्रिटेन की तरफ से एकमात्र गोल सैमुअल इयान वार्ड (45वें) ने किया।
1980 में जीता था पदक : भारत ने ओलिंपिक में आखिरी पदक मास्को ओलिंपिक 1980 में स्वर्ण पदक के रूप में जीता था, लेकिन तब केवल 6 टीमों ने भाग लिया था और राउंड रॉबिन आधार पर शीर्ष पर रहने वाली 2 टीमों के बीच स्वर्ण पदक का मुकाबला हुआ था। इस तरह से भारत 1972 में म्यूनिख ओलिंपिक के बाद पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचा है।

पीवी सिंधु ने रचा इतिहास : इससे पहले रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता और विश्व चैंपियन छठी वरीय पीवी सिंधू (PV Sindhu) ने रविवार को यहां चीन की आठवीं वरीय ही बिंग जियाओ को सीधे गेम में हराकर तोक्यो खेलों की महिला एकल स्पर्धा का कांस्य पदक जीता और ओलिंपिक में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं।
दिग्गज पहलवान सुशील कुमार बीजिंग 2008 खेलों में कांस्य और लंदन 2012 खेलों में रजत पदक जीतकर ओलंपिक में दो व्यक्तिगत पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे।
दिग्गजों ने दी बधाई : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई हस्तियों ने भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू को बधाई दी। मीडिया खबरों के मुताबिक जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीवी सिंधु से बात की है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, पीवी सिंधू दो ओलंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं।

उन्होंने निरंतरता, समर्पण और उत्कृष्टता के नए मापदंड बना दिए। भारत को गौरवान्वित करने के लिए उन्हें मेरी बधाई। मोदी ने सिंधू की फोटो के साथ ट्वीट किया, पीवी सिंधू हम सभी आपके शानदार प्रदर्शन से उत्साहित हैं। टोक्यो ओलंपिक 2020 में कांस्य पदक जीतने के लिए बधाई। वे भारत का गौरव हैं और हमारे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं।
खेलमंत्री अनुराग ठाकुर ने ट्वीट किया, स्मैशिंग जीत पीवी सिंधू, मैच में आपका दबदबा रहा और आपने इतिहास रच दिया। दो बार ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं। भारत को आप पर गर्व है, आपकी स्वदेश वापसी का इंतजार। आपने कर दिखाया।

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, बहुत बढ़िया खेलीं पीवी सिंधू। आपने फिर से खेल के प्रति अपनी अद्वितीय प्रतिबद्धता और समर्पण को साबित किया। आप ऐसे ही देश का नाम रोशन करती रहें। हमें आपकी शानदार उपलब्धि पर गर्व है।

हॉकी टीम को दिग्गजों ने दी बधाई : भारतीय पुरुष हॉकी टीम के 49 वर्ष बाद ओलंपिक खेलों के सेमीफाइनल में जगह बनाने के बाद भारतीयों का इस खेल के प्रति सोया प्यार फिर से जाग उठा जिसकी बानगी सोशल मीडिया पर स्पष्ट दृष्टिगोचर हो रही थी। भारत ने रविवार को यहां क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराकर 1980 के बाद पहले ओलंपिक पदक की उम्मीद जगा दी। पूर्व हॉकी खिलाड़ियों से लेकिर क्रिकेटरों और राजनीतिज्ञों तक ने सोशल मीडिया पर अपनी खुशी व्यक्त की।
पूर्व भारतीय कप्तान वीरेन रासकुइन्हा ने कहा कि मास्को ओलिंपिक 1980 में स्वर्ण पदक जीतने के बाद भारतीय हॉकी के लिये सबसे महत्वपूर्ण पल। मुझे टीम पर गर्व है। बधाई। मेरी आंखों में खुशी के आंसू हैं। ओलंपिक में भारत के एकमात्र व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा और 2012 के कांस्य पदक विजेता गगन नारंग ने भी मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली टीम को बधाई दी।

बिंद्रा ने पीवी सिंधू के बैडमिंटन में कांस्य पदक जीतने का संदर्भ देते हुए लिखा ‍कि क्या शानदार शाम रही। बेहतरीन प्रदर्शन किया भारतीय हॉकी टीम ने। अब बस दो मैच और जीतने हैं। क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया, ‘चक दे इंडिया। भारतीय हॉकी के लिए महत्वपूर्ण पल। ग्रेट ब्रिटेन पर शानदार जीत। 1972 ओलंपिक के बाद पहला सेमीफाइनल। मजा आ गया। सेमीफाइनल के लिये शुभकामनाएं।'
भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फेरेल ने भारतीय टीम को बधाई दी। उन्होंने उम्मीद जताई कि फाइनल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होगा। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने लिखा- भारत ने सेमीफाइनल में जगह बनाई। पुरुष हॉकी टीम का बेहतरीन प्रदर्शन। ओडिसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लिखा कि बेहतरीन खेल दिखाया। भारतीय हॉकी टीम को क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन पर शानदार जीत के लिये बधाई।



और भी पढ़ें :