उद्घाटन समारोह से पहले बार और रेस्त्रां पर लगा यह प्रतिबंध, जापानी लोग हुए निराश

पुनः संशोधित गुरुवार, 22 जुलाई 2021 (11:10 IST)
टोक्यो: के उद्घाटन समारोह की पूर्व संध्या पर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए प्रतिबंधों से यहां जश्न मनाने और मदिरा पीने वालों में हताशा और निराशा है।
जापान ने शहर के रेस्तरां और बार को रात आठ बजे तक बंद करने के लिए कहा है। सरकार ने यह कदम लोगों को अजनबियों के संपर्क में आने और वायरस फैलने से रोकने के लिए उठाया है। यहां आपातकाल की स्थिति में भी हालांकि ये कदम बहुत कारगर नहीं रहे और लोग खुली जगहों पर शराब पीने लगे हैं।

रियल एस्टेट उद्योग में काम करने वाली 28 वर्षीय मियो मारुयामा ने कहा, ‘‘ किसी को भी यकीन नहीं हो रहा कि सरकार ओलंपिक आयोजन से पीछे नहीं हटी लेकिन बिना किसी वैज्ञानिक सबूत के ऐसे लोगों को निशाना बना रही है ।’’
उन्होंने रविवार को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सदस्यों के लिए 40-व्यक्ति के स्वागत समारोह का जिक्र किया जिसमें प्रधानमंत्री और तोक्यो के गवर्नर भी शामिल थे।

उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसा नहीं है कि हम नियम तोड़ रहे हैं, लेकिन हम राजनेताओं की बातों और कार्यों के बीच दिख रहे अंतर के खिलाफ हैं।’’

आईओसी का स्वागत ऐसे समय में हुआ जब नागरिकों को पार्टियों में जाने या यहां तक कि अधिकांश ओलंपिक कार्यक्रमों में भाग लेने से रोक दिया गया था। स्थानीय लोग हालांकि इससे नाराज हैं।
कोरोना के खतरे के बीच 15 देशों के नेता रहेंगे मौजूद
कोविड महामारी
से प्रभावित टोक्यो ओलंपिक खेलों के शुक्रवार को होने वाले उद्घाटन समारोह के दौरान लगभग 15 देशों के नेताओं के मौजूद रहने की संभावना है। जापान में आ रही खबरों के अनुसार समारोह के दौरान निजी तौर पर स्टेडियम में मौजूद रहने वाले लोगों की संख्या 1000 के आसपास हो सकती है।
जापान सरकार के मुख्य कैबिनेट सचिव कात्सुनोबु केटो के हवाले से ‘क्योडो’ समाचार एजेंसी ने कहा कि महामारी से संक्रमण के जोखिम को नियंत्रित करने के आयोजकों के प्रयास के तहत राष्ट्रीय स्टेडियम में उद्घाटन समारोह के दौरान लोगों की मौजूदगी को सीमित करने का फैसला किया गया है।
70 कैबिनेट अधिकारी भी आ सकते हैं जापान

केटो ने कहा कि लगभग 70 कैबिनेट स्तर के अधिकारियों के भी जापान आने की संभावना है। उन्होंने कहा कि उद्घाटन समारोह के दौरान कितने अति विशिष्ट अतिथि मौजूद रहेंगे इस पर अब भी अनिश्चितता बनी हुई है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मेक्रोन, मंगोलिया के प्रधानमंत्री लुवसानामसराई ओयुन एर्डेन और अमेरिका की प्रथम महिला जिल बाइडेन के अलावा कुछ और वैश्विक नेता उद्घाटन समारोह में मौजूदगी का वादा कर चुके हैं।
जापान में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण हालांकि कई नेताओं को खेलों के महाकुंभ के लिए अपनी यात्रा को रद्द करने पर बाध्य होना पड़ा। मुख्य कैबिनेट सचिव केटो ने कहा कि इन खेलों से प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा को वैश्विक नेताओं के साथ संबंध मजबूत करने का बहुमूल्य मौका मिलेगा। पिछले साल स्थगित किए गए टोक्यो खेलों का आयोजन आपातकाल की स्थिति के बीच किया जाएगा और इस दौरान दर्शकों को स्टेडियम में आने की इजाजत नहीं होगी।



और भी पढ़ें :