टोक्यो के स्वर्ण पदक विजेता को 75 लाख रुपये देगा भारतीय ओलंपिक संघ

Last Updated: शुक्रवार, 23 जुलाई 2021 (12:14 IST)
नई दिल्ली:(आईओए) ने गुरुवार को घोषणा की कि वह खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को 75 लाख रुपये का नकद पुरस्कार देगा और इसके अलावा प्रत्येक भागीदार (एनएसएफ) को बोनस के तौर पर 25 लाख रुपये देगा।
आईओए की सलाहकार समिति ने रजत पदक विजेताओं को 40 लाख रुपये और कांस्य पदक विजेताओं को 25 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

आईओए ने बयान में कहा, ‘‘इसमें टोक्यो ओलंपिक खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रत्येक खिलाड़ी को एक लाख रुपये देने की भी सिफारिश की गयी है। ’’

आईओए ने इसके साथ ही प्रत्येक भागीदार एनएसएफ को 25 लाख रुपये और पदक विजेता एनएसएफ को 30 लाख रुपये का अतिरिक्त सहयोग देने के समिति के निर्णय को स्वीकार किया है।

भारतीय ओलंपिक संघ के सदस्य राज्य ओलंपिक संघों को भी आईओए से राज्यों में खेल के बुनियादी ढांचे को विकसित करने और अधिक एथलीटों को खेलों में भाग लेने और वैश्विक खेल आयोजनों में देश का प्रतिनिधित्व करने के अपने सपनों को साकार करने के लिए योगदान के रूप में 15 लाख रुपये की राशि मिलेगी।

आईओए महासचिव राजीव मेहता ने कहा, ‘‘पहली बार आईओए पदक विजेताओं और उनके एनएसएफ को पुरस्कृत करने जा रहा है।’’“पिछले साल मार्च से कोरोनोवायरस महामारी के दौरान महासंघों और एथलीटों ने कई तरह की बाधा और कठिनाई का डटकर सामना किया है, भारतीय ओलंपिक संघ मानता है कि सभी राष्ट्रीय खेल संघों, राज्य ओलंपिक संघों और सबसे महत्वपूर्ण एथलीटों को समर्थन और सहायता की आवश्यकता है। ”

सलाहकार समिति ने भारतीय दल के प्रत्येक सदस्य के लिये टोक्यो प्रवास के दौरान प्रतिदिन 50 डॉलर का भत्ता देने की भी सिफारिश की है।

आईओए ने इसके साथ ही कहा कि सदस्य राज्य ओलंपिक संघों में से प्रत्येक को राज्य में बुनियादी खेल ढांचे को विकसित करने और अधिक खिलाड़ियों को खेलों से जोड़ने के लिये 15 लाख रुपये दिये जाएंगे।



और भी पढ़ें :