टी-20 विश्वकप नहीं यह विराट और बाबर के बीच हो सकती है नंबर 1 पर पहुंचने की जंग

Last Updated: रविवार, 24 अक्टूबर 2021 (12:15 IST)
वैसे तो आज क्रिकेट फैंस की निगाहें और के मुकाबले पर रहने वाली हैं। लेकिन सिर्फ भारत और पाकिस्तान का मैच ही नहीं कुछ खिलाड़ियों के लिए यह टूर्नामेंट में शीर्ष पर पहुंचने का मौका हो सकता है।

भारतीय कप्तान विराट कोहली और पाकिस्तानी कप्तान के बीच आज तुलना और आलोचना का दौर जारी रहेगा लेकिन आज के बाद भी वह रैंकिंग में एक दूसरे से आगे निकलकर नंबर 1 के ताज पर पहुंचने की कोशिश करेंगे।

फिलहाल बाबर आजम विराट कोहली से दो पायदान आगे हैं। लेकिन नंबर 1 पर दोनों में से कोई भी बल्लेबाज नहीं है। विराट कोहली 717 अंको के साथ चौथे स्थान पर हैं वही बाबर आजम 819 अंको के साथ दूसरे स्थान पर है। इंग्लैंड के बल्लेबाज डेविड मलान 841 अंको के साथ पहले स्थान पर हैं। ऐसे में बाबर का नंबर 1 बनना ज्यादा आसान नजर आता है।
विराट कोहली को अगर नंबर 1 बनना है तो ना सिर्फ पाकिस्तान के खिलाफ बल्कि आने वाले मैचों में भी शानदार प्रदर्शन करना होगा और कम से कम 60 से 70 रन हर मैच में बनाने होंगे। विराट के लिए खुशी की बात यह है कि भारत के ग्रुप में अब स्कॉटलैंड और नामिबिया है। श्रीलंका और बांग्लादेश से यह दोनों टीमें थोड़ी कमतर है और इन दोनों देशों के खिलाफ विराट आने वाले दिनों में बड़ा स्कोर बनाने की कोशिश करेंगे।

हालांकि यह बात बाबर आजम के साथ भी रहेगी क्योंकि भारत और पाकिस्तान एक ही ग्रुप में मौजूद हैं। वह भी इन देशों के खिलाफ बड़ा स्कोर बनाने की कोशिश करेंगे। इस साल तो बाबर आजम दो टी-20 शतक लगा चुके हैं।

वहीं इंग्लैंड के बल्लेबाज डेविड मलान का इस टूर्नामेंट में ज्यादा चलना संभव नहीं है क्योंकि वह स्पिन के खिलाफ उतने रन नहीं बटोर पाते हैं। संयुक्त अरब अमीरात की इन पिचों पर उन्हें लगातार स्पिन गेंदबाजी खेलनी भी पड़ेगी और तेजी से रन बनाने भी पड़ेंगे। संभवत इस टी-20 विश्वकप के अंत तक वह अपनी नंबर 1 रैंक खो देंगे।

हालांकि विराट और बाबर का सबसे बड़ा इम्तिहान आज पाकिस्तानी और हिंदुस्तानी गेंदबाजों के सामने होगा।

टी-20 विश्वकप में विराट पाक गेंदबाजों के खिलाफ आउट ही नहीं हुए है

इस तरह विराट कोहली बिना आउट हुए पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 विश्वकप के 3 मैचों में 169 रन बना चुके हैं। इतने रन बनाने के लिए उन्होंने सिर्फ 130 गेंद इस्तेमाल की। इन मैचों में विराट ने कुल 19 चौके लगाए और 4 छक्के लगाए।
हर पारी में उन्होंने गेंदे कम और रन ज्यादा बनाए। एक और दिलचस्प बात यह रही कि तीनों मैचों में उन्होंने बाद में बल्लेबाजी करने पर यह रन बनाए। फैंस को उम्मीद होगी कि विराट का यह अविजित रिकॉर्ड 2021 के मैच में भी कायम रहे।

वहीं बाबर आजम टी-20 विश्वकप में पहली बार भारत के आमने सामने रहेंगे। वह वनडे विश्वकप और चैंपियन्स ट्रॉफी में तो भारत के खिलाफ बल्लेबाजी कर चुके हैं लेकिन पहली बार उनके सामने टी-20 फॉर्मेट में भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ तेजी से रन बनाने की चुनौती रहेगी। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :