1. समाचार
  2. व्यापार
  3. शेयर बाजार
  4. सेंसेक्स फिर 60 हजार के पार, निवेशकों को 4.16 लाख करोड़ का लाभ
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 8 अक्टूबर 2021 (23:36 IST)

सेंसेक्स फिर 60 हजार के पार, निवेशकों को 4.16 लाख करोड़ का लाभ

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा शुक्रवार को अपनी मौद्रिक समीक्षा में नरम रुख बनाए रखने की घोषणा के बाद सेंसेक्स 381 अंक की छलांग के साथ 60,000 अंक के स्तर को पार कर गया। निफ्टी अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर बंद हुआ। वहीं शेयर बाजार में पिछले 2 दिन की तेजी से निवेशकों की संपत्ति 4,16,413.43 करोड़ रुपए बढ़ गई। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को रिकॉर्ड 266.36 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया।

मौद्रिक समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 381.23 अंक या 0.64 प्रतिशत के उछाल से 60,059.06 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 104.85 अंक या 0.59 प्रतिशत के लाभ से 17,895.20 अंक पर बंद हुआ। यह इसका नया रिकॉर्ड है।

सेंसेक्स की कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर सबसे अधिक 3.84 प्रतिशत चढ़ गया। इन्फोसिस, टेक महिंद्रा, एचसीएल टेक, टीसीएस, टाटा स्टील और एलएंडटी के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं हिंदुस्तान यूनिलीवर, एनटीपीसी, मारुति, डॉ. रेड्डीज और टाइटन के शेयर 1.16 प्रतिशत के नुकसान में रहे। ब्याज दरों की दृष्टि से संवेदनशील बैंकिंग और वाहन कंपनियों के शेयरों में गिरावट आई, जबकि वाहन कंपनियों के शेयर लाभ के साथ बंद हुए।

साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 1,293.48 अक या 2.20 प्रतिशत चढ़ा है। निफ्टी 363.15 अंक या 2.07 प्रतिशत के लाभ में रहा। रिजर्व बैंक ने द्विमासिक मौद्रिक मौद्रिक समीक्षा में उम्मीद के अनुकूल नीतिगत दरों को यथावत रखा है। हालांकि, केंद्रीय बैंक ने महामारी के दौर में दिए गए प्रोत्साहनों की वापसी का भी संकेत दिया है।

छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने रेपो दर को चार प्रतिशत पर और रिवर्स रेपो दर को 3.35 प्रतिशत पर कायम रखा है। वहीं नरम रुख को जारी रखने के पक्ष में पांच सदस्यों और विरोध में एक सदस्य ने मत दिया।

एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, रिजर्व बैंक ने अपने नरम रुख को जारी रखा है। आईटी सूचकांक की अगुवाई में शुक्रवार को दिनभर बाजार लाभ में रहे। बाजार को टीसीएस के नतीजों को इंतजार है।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, रिजर्व बैंक के नरम रुख तथा वैश्विक बाजारों के मिलेजुले रुख के बीच घरेलू बाजार लाभ में रहे। अमेरिका के रोजगार के आंकड़े भी आज शाम को आने हैं। रिजर्व बैंक ने अपने नरम रुख को जारी रखते हुए नीतिगत दरों को यथावत रखा है।

बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप 0.83 प्रतिशत तक चढ़ गए। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग के हैंगसेंग तथा जापान के निक्की में लाभ रहा। दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में गिरावट रही। दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजारों में गिरावट का रुख था। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.83 प्रतिशत की बढ़त के साथ 82.63 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 20 पैसे टूटकर 74.99 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 1,764.25 करोड़ रुपए के शेयर बेचे।

बाजार में तेजी से निवेशकों को हुआ 4.16 लाख करोड़ रुपए का लाभ : शेयर बाजार में पिछले दो दिन की तेजी से निवेशकों की संपत्ति 4,16,413.43 करोड़ रुपये बढ़ गई। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को रिकॉर्ड 266.36 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 381.23 अंक या 0.64 प्रतिशत के उछाल से 60,059.06 अंक पर बंद हुआ।

बृहस्पतिवार को यह 488.1 अंक की बढ़त के साथ 59,677.83 पर बंद हुआ था। शेयरों में आए उछाल के साथ बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण दो दिनों में बढ़कर 4,16,413.43 करोड़ रुपए बढ़कर 2,66,36,960.48 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।(भाषा)
ये भी पढ़ें
फिर शुरू होगी TATA की उम्मीदों की उड़ान, 1932 में किया था 2 लाख रुपए का निवेश