ओलंपिक में भाग लेने के लिए मांसपेशियों को मजबूत कर रहे है तरुणदीप राय

Last Updated: शनिवार, 4 अप्रैल 2020 (19:13 IST)
कोलकाता। के संक्रमण के कारण देश में लागू के बीच अनुभवी निशानेबाज की तैयारियों के लिए पुणे स्थित सेना खेल संस्थान में कंधे की मांसपेशियों को मजबूत करने पर ध्यान दे रहे है।

कोविड-19 के कारण टोक्यो ओलंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया है जिससे 36 साल के राय जब तीसरी बार इन खेलों में भाग लेगें तो उनकी उम्र में एक और साल का इजाफ हो जाएगा।

में दो बार के इस रजत पदक विजेता ने पुणे में कहा, ‘ओलंपिक के स्थगित होने का मेरे लिए मतलब यह है कि जब मैं मैदान में उतरुंगा तो मेरे उम्र एक साल और बढ़ जाएगी। यह अलग तरह की चुनौती होगी।’

कोविड-19 के कारण देश भर में लागू 21 दिन की बंदी के बाद उन्होंने अभ्यास करने के अपने तरीके में बदलाव किया है। वह अब यू-ट्यूब पर ऐसे वीडियो को देखते है जिसमें कंधे की मांसपेशियों को मजबूत करने का अभ्यास के बारे में बताया जाता है। वह इसे अपने जिम में इस पर कई घंटे अभ्यास करते है।

एथेंस (2004) और लंदन (2012) ओलंपिक में भाग लेने वाले राय ने कहा, ‘किसी ट्रेनर के पास अभी जाना खतरे से खाली नहीं है, इसलिए मैं यू-ट्यूब की मदद ले रहा हूं।’एशियाई खेलों (2010) के पूर्व व्यक्तिगत रजत पदक विजेता ने कहा, ‘अभी मैं ज्यादा तीरंदाजी (अभ्यास) नहीं कर पा रहा हूं।

मैं ऐसे अभ्यास पर ध्यान दे रहा है जहां मेरे शरीर तीर और धनुष के साथ लय बनाए रहे।’राय ने भारत के शीर्ष निशानेबाज अतनु दास और उनके सेना के सहयोगी प्रवीण जाधव के साथ पिछले साल नीदरलैंड में डेन बॉश में विश्व चैंपियनशिप में रजत जीत कर पुरुष टीम के लिए कोटा हासिल किया था।

राय ने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं है कि अनुभव के मामले में मैं आगे हूं लेकिन मेरे लिए फिट रहना और युवा खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा करना चुनौतीपूर्ण होगा। अगले एक साल में 20-22 वर्ष के कई युवा खिलाड़ी कोटा हासिल करने की कोशिश करेंगे। मुझे लगता है कि कंधे की मांसपेशियों को मजबूत कर मैं इस चुनौती से निपट सकता हूं।’

राय को उम्मीद है कि तीन महीने में स्थिति सामान्य होगी और जब सत्र शुरु होगा तो वह फिर से तीर-धनुष से अभ्यास कर सकेंगे।उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है अगले छह महीने में कोई खेल नहीं होगा। मैं तीन महीने तक जिम में कड़ी मेहनम करूंगा और फिर तीन महीने शरीर को आराम दूंगा। मैंने अपनी योजना ऐसे ही बनाई है।’

उन्होंने कहा कि टोक्यो ओलंपिक के टलने से भारत के पदक जीतने की संभावना बढ़ेगी।उन्होंने कहा, ‘इसका (ओलंपिक स्थगित होने का) सकारात्मक पहलू यह है कि हम प्रतिस्पर्धा के लिए मजबूत टीम तैयार कर सकते है। उम्मीद है कि महिला टीम भी क्वालीफाई करेगी जिससे पदक जीतने का हमारा मौका बढ़ेगा।’ (भाषा)




और भी पढ़ें :