FIH pro league में चक दे गर्ल्स का कमाल, ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली अर्जेंटीना को दी पटखनी

पुनः संशोधित रविवार, 19 जून 2022 (15:55 IST)
हमें फॉलो करें
रोटरडम: गुरजीत कौर के दो गोल से भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को यहां शानदार प्रदर्शन करते हुए के ‘डबल लेग’ मुकाबले के पहले मैच में निर्धारित समय में 3-3 के स्कोर के बाद शूटआउट में ओलंपिक रजत पदक विजेता अर्जेंटीना को 2-1 से हराकर उलटफेर किया।

गुरजीत (37वें और 51वें मिनट) ने दो पेनल्टी कॉर्नर से और लालरेमसियामी ने चौथे मिनट में मैदानी गोल किया। अर्जेंटीना के लिये ऑगस्टिना गोर्जेलानी ने 22वें, 37वें और 45वें मिनट में हैट्रिक करके मैच को शूटआउट तक पहुंचाया।

शूटआउट में नेहा गोयल और सोनिका ने भारत के लिये गोल किये जबकि मौजूदा प्रो लीग चैम्पियन अर्जेंटीना के लिये विक्टोरिया ग्रानाटो एकमात्र स्कोरर रहीं। इस तरह सविता पूनिया की टीम ने यादगार जीत दर्ज की और तोक्यो ओलंपिक सेमीफाइनल में इसी प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाफ मिली 1-2 की हार का बदला भी चुकता किया।भारतीय टीम ने मैच में मजबूत शुरुआत की और दबदबा बनाया।

भारत ने शुरू में ही अर्जेंटीना के रक्षण पर दबाव बनाकर तीसरे ही मिनट में पेनल्टी कॉर्नर हासिल कर लिया लेकिन मोनिका की फ्लिक का प्रतिद्वंद्वी गोलकीपर बेलेन सुकी ने अच्छा बचाव किया।
एक मिनट बाद भारत ने लालरेमसियामी के शानदार मैदानी गोल से बढ़त बनायी।

दीप ग्रेस एक्का ने सर्कल के बाहर से किये गये पास से मौका बनाया और लालरेमसियामी ने अर्जेंटीना की गोलकीपर को हैरत में डालते हुए गोल कर दिया।इस गोल से दबाव में आयी अर्जेंटीना ने आक्रमण करना शुरू किया और जल्द ही लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर हासिल किये लेकिन भारत के मजबूत रक्षण के आगे उनकी एक नहीं चली।

पहले क्वार्टर के समाप्त होने से कुछ सेकेंड पहले शर्मिला देवी के प्रयास को सुकी ने विफल कर दिया।भारतीय खिलाड़ियों ने दूसरे क्वार्टर में भी यही आक्रामकता जारी रखी लेकिन अर्जेंटीना ने धीरे धीरे वापसी करना शुरू किया।

दूसरे क्वार्टर के छह मिनट में अर्जेंटीना ने तेजी से दो पेनल्टी कॉर्नर हासिल किये और ऑगस्टिना गोर्जेलानी ने गोल कर दिया जब उनकी फ्लिक सुशीला चानू की स्टिक से डिफ्लेक्ट हो गयी।अर्जेंटीना ने जल्द ही एक और पेनल्टी कॉर्नर हासिल कर लिया लेकिन चानू ने वालेंटिना कोस्टा के प्रयास का शानदार बचाव किया।

भारत को हाफ टाइम से कुछ सेंकेड से पहले एक पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन मौका गंवा दिया।इसके बाद गोर्जेलानी ने 37वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर से गोल किया।

अर्जेंटीना की खुशी हालांकि कुछ देर ही रह सकी भारत ने सेंकेड बाद ही गुरजीत कोर के पेनल्टी कॉर्नर पर किये गये गोल से बराबरी हासिल की।अर्जेंटीना ने कोशिश जारी रखी और तीसरे क्वार्टर में दो और पेनल्टी कॉर्नर हासिल किये लेकिन भारतीयों का रक्षण बेहतरीन रहा।

अर्जेंटीना को आठवां पेनल्टी कॉर्नर 45वें मिनट में मिला और गोर्जेलानी ने गोल कर अपनी हैट्रिक पूरी कर टीम को फिर आगे कर दिया।भारतीय खिलाड़ियों ने उम्मीद नहीं छोड़ी और डटी रहीं। गुरजीत ने फिर 51वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर स्कोर 3-3 की बराबरी पर ला दिया।

इसके बाद दोनों टीमों ने विजयी गोल करने की कोशिश की लेकिन दोनों टीमों का रक्षण दमदार रहा जिससे मैच शूटआउट में चला गया।भारत और अर्जेंटीना अब दूसरे मैच में रविवार को एक दूसरे के आमने सामने होंगे।
Koo App
Hard luck #HockeyIndia. #IndVsNed #FIHProLeague

- KK Mishra (@kk) 18 June 2022
भारतीय पुरुष हॉकी टीम नीदरलैंड को बराबरी पर रोकने के बाद शूटआउट में हारी

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एफआईएच प्रो लीग के दो चरण के शुरुआती मुकाबले में नीदरलैंड को शनिवार को कड़ी टक्कर दी लेकिन नियमित समय में मैच के 2-2 की बराबरी पर छूटने के बाद शूटआउट में उसे 1-4 से हार का सामना करना पड़ा।

इस हार के साथ ही भारतीय टीम को अब खिताब की दौड़ में बने रहने के लिए दूसरी टीमों पर निर्भर रहना होगा। इस मैच से भारत को एक अंक मिला जिससे 15 मुकाबलों के बाद उनके नाम 30 अंक है। उसका एक मैच बचा हुआ है।

तालिका में शीर्ष पर काबिज नीदरलैंड के नाम 13 मैचों में 33 अंक है जबकि ओलंपिक चैंपियन बेल्जियम 14 मैचों में 31 अंक के साथ दूसरे स्थान पर है। नीदरलैंड के तीन जबकि बेल्जियम के दो मैच बचे हुये हैं।

भारतीय टीम ने दोनों गोल पिछड़ने के बाद किये। टीम के लिए दिलप्रीत सिंह ने 22वें मिनट में पहला गोल किया जबकि हरमनप्रीत सिंह ने हूटर बजने से कुछ सेकंड पहले बराबरी का गोल दागा।भारत और नीदरलैंड की टीमों ने हर विभाग में पूरे 60 मिनट के खेल में एक दूसरे को कड़ी टक्कर दी।

भारतीय टीम शुरुआती दो क्वार्टर में गेंद को अपने पास अधिक समय तक रखने में सफल रही लेकिन नीदरलैंड को शुरुआत से ही आक्रामक खेल और
जवाबी हमला करने का फायदा हुआ।यह मुकाबला दो शानदार गोलकीपरों के बीच भी था जिसमें पीआर श्रीजेश और पिरमिन ब्लाक ने कई बेहतरीन बचाव किये।

डर्क डी विल्डर के बनाये मौके पर तिजमेन रेयेंग ने भारतीय रक्षापंक्ति को छकाते हुए गोल में बदल दिया जिससे नीदरलैंड की टीम ने 10वें मिनट में अपना खोला।भारत ने इसके बाद जवाबी हमाल कर दो पेनल्टी कार्नर हासिल किया लेकिन घरेलू टीम ने दोनों प्रयासों को विफल कर दिया।

भारतीय टीम ने दूसरे क्वार्टर में बराबरी की। मैच के 22वें मिनट में दिलप्रीत सिंह ने वरूण कुमार के पास पर सर्कल से शानदार मैदानी गोल दागा।इसके बाद तीसरे क्वार्टर में भी दोनों टीम के बीच कांटे का मुकाबला हुआ । दोनों टीमों की अग्रिम पंक्ति के बनाये मौको को रक्षापंक्ति ने विफल कर दिया।

मैच के आखिरी क्वार्टर में 47 मिनट में कोएन बिजेन के मैदानी गोल से नीदरलैंड ने बढ़त कायम कर ली । टीम मैच को जीतने की ओर बढ़ रही थी लेकिन आखिरी 23 सेकंड के खेल में भारत ने तीन पेनल्टी कार्नर हासिल किये। हरमनप्रीत ने आखिरी पेनल्टी कार्नर को गोल में बदल कर स्कोर को 2-2 से बराबर कर दिया।

लेकिन शूट-आउट में, भारतीयों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। नीदरलैंड ने पांच में से चार मौके बनाए, जबकि भारत के लिए
केवल विवेक सागर प्रसाद ही गोल कर सके।भारत और नीदरलैंड के बीच रविवार को दूसरे चरण का मैच खेला जायेगा।(भाषा)



और भी पढ़ें :