कोरोना के कारण Hockey India की तैयारियों पर असर नहीं, मुख्‍य कोच ग्राहम रीड का बयान

पुनः संशोधित रविवार, 22 मार्च 2020 (16:04 IST)
नई दिल्ली। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के का मानना है कि (virus) 'कोविड-19' महामारी के कारण उनका अभ्यास कार्यक्रम अन्य देशों की तरह प्रभावित नहीं हुआ है और जहां तक की तैयारियों का सवाल है तो 8 बार का चैंपियन भारत अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में बेहतर स्थिति में है।
भारत के लिए यह निश्चित तौर पर निराशाजनक है कि कोविड-19 महामारी के कारण उसकी टीम एफआईएच प्रो लीग मैचों को खेलने के लिए जर्मनी और इंग्लैंड का दौरा नहीं कर पाई, लेकिन इस मुश्किल घड़ी में रीड इसके सकारात्मक पक्षों पर गौर करते हैं। प्रो लीग को अभी स्थगित कर दिया गया है।

उन्होंने कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे खतरे के बावजूद भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) और हॉकी इंडिया द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की। रीड ने बेंगलुरु में साइ के दक्षिण भारत के केंद्र से कहा, संबंधित विभागों ने जल्दी से कार्रवाई की और साई केंद्र को अलग-थलग कर दिया। हम अलग-थलग जरूर हैं, लेकिन हम अपने सामान्य कार्यक्रम के अनुसार चल रहे हैं। चीजें बड़ी सहजता से हो रही हैं। हम वायरस पर नियंत्रण नहीं कर सकते लेकिन हम अपने वातावरण पर नियंत्रण कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, चीजें हर दिन बदल रही हैं, लेकिन एक अच्छी बात यह है कि हम लगातार अभ्यास जारी रखे हुए हैं, जबकि अन्य देशों के साथ ऐसा नहीं है। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी अपने परिवारों के साथ हैं और पर्थ में अभ्यास कर रहे हैं। अर्जेंटीना का केंद्रीकृत कार्यक्रम है लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे अभी हमारी तरह अभ्यास कर पा रहे हैं। हमारी पूरी टीम साथ में हैं।

रीड ने कहा, यहां हमारे साथ शिविर में 32 खिलाड़ी हैं और हम एक-दूसरे के खिलाफ प्रतिस्पर्धी हॉकी खेल सकते हैं। हम अंतरराष्ट्रीय मानसिकता के साथ आपस में मैच खेल रहे हैं। हम हर दिन भिन्न शैली की हॉकी खेल रहे हैं। एक दिन हम जर्मनी जैसी तो दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की तरह हॉकी खेल रहे हैं।

भारत को 25 और 26 अप्रैल को होने वाले मैचों के लिए जर्मनी और 2 और 3 मई को ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ होने वाले मैचों के लिए लंदन जाना था, लेकिन अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने 'कोविड-19' महामारी को देखते हुए प्रो लीग को 17 मई तक स्थगित कर दिया है, जिससे ये मैच रद्द हो गए हैं।

रीड ने कहा, हम अब भी लगातार वह कर रहे हैं जो अपनी तरफ से कर सकते हैं, मतलब बंद और सुरक्षित माहौल में हॉकी खेलना। इस गंभीर संकट के मामले में हम हॉकी इंडिया और भारत सरकार की सिफारिशों का इंतजार कर रहे हैं। निश्चित तौर पर हमें ओलंपिक तैयारियों के अपने कार्यक्रम को फिर से तैयार करना होगा।

रीड ने कहा कि महामारी को देखते हुए टोक्यो ओलंपिक के स्थगित होने की संभावना है, लेकिन उम्मीद जताई कि ऐसा नहीं होगा। उन्होंने कहा, मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता कि ओलंपिक होने चाहिए या उन्हें स्थगित कर देना चाहिए। यह फैसला आईओसी और टोक्यो खेल के आयोजकों को करना है, लेकिन ओलंपिक खास होते हैं और प्रत्‍येक खिलाड़ी इसका हिस्सा बनने का सपना देखता है।



और भी पढ़ें :