Amit Panghal ने बॉक्सिंग वर्ल्ड चैम्पियनशिप में रचा इतिहास, भारत को स्वर्ण पदक दिलाने का भरोसा दिया

Last Updated: शनिवार, 21 सितम्बर 2019 (12:58 IST)
ने इतिहास रचते हुए के फाइनल में अपनी जगह बाई है। पंघल वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय पुरुष मुक्केबाज हैं। इस भारतीय खिलाडी ने फाइनल में पहुंच के लिए शुक्रवार को 52 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले में कजाकिस्तान के साकेन बिबिसोनोव को 3-2 से पराजित किया।
आज होने वाले फाइनल मुकाबले में अमित का सामना रियो ओलंपिक में स्वर्ण जीतने वाले शाखोबिदीन जोइरोव से होगा। एशियाई खेलों में जीत चुके अमित पंघल ने 52 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के साकेन बिबिसोनोव को 3-2 से हराया।

वर्ल्ड के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय पुरुष मुक्केबाज अमित हैं। अभी तक वर्ल्ड चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले 5 भारतीय पुरुष मुक्केबाज है। जिनके नाम विजेंद्र सिंह 2009, विकास कृष्णन 2011, और शिवा थापा ने 2015 में सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था।

इसने अलावा गौरव विधूड़ी ने 2017 में सेमीफाइनल में पहुंचकर कांस्य जीता था लेकिन वह भारत को र्स्वण पदक नही देला सके थे। इस वर्ष भी मनीष कौशिक ने सेमीफाइनल का सफर तय किया लेकिन शुक्रवार हुए फाइनल मुकामले में क्यूबा के मौजूदा वर्ल्ड चैम्पियनशिप एंडी क्रूज के हाथों 63 किग्रा के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा।

अमित पंघल ने कहा कि वह अपने देश को स्वर्ण पदक दिलाने के लिए एडी से चोटी तक का जोर लगा देंगे। मैच की समाप्ती के बाद अमित ने कहा, मैं जितना सोचकर आया था, उससे कहीं अधिक जोर लगाना पड़ा, मेरे साथियों ने मेरा काफी साथ दिया और इसके लिए मैं सबका धन्यवाद करना चाहूंगा।



और भी पढ़ें :