हॉटन की नजरें अब क्वालीफायर पर

नई दिल्ली (भाषा) | भाषा|
भारत को एशियाई फुटबॉल परिदृश्य में लौटाने के बाद राष्ट्रीय कोच ॉब ॉटन की नजरें अब 2012 के क्वालीफायर मुकाबलों पर टिकी हैं, जो 2010 में शुरू होंगे।


'बॉब द बिल्डर' ने संभावित खिलाड़ियों को भी चुन रखा है और उन्हें उम्मीद है कि आई लीग से उन्हें ओलिम्पिक टीम के लिए कुछ और प्रतिभाशाली युवा मिलेंगे।

उन्होंने अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की सालाना आम बैठक के मौके पर कहा ओलिम्पिक संभावितों का शिविर जुलाई में शुरू होगा। इन्हीं में से टीम चुनी जाएगी।

इंग्लैंड के इस कोच ने कहा कि अगले दो साल में खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए 22 नुमाइशी मैच भी खेले जाएँगे। ने कहा कि हम एशिया में शीर्ष 20 में है लेकिन हमें शीर्ष 16 में शामिल होना है।

चोटी की 16 टीमों को विश्व कप और ओलिम्पिक क्वालीफायर में आसान ड्रा मिलेगा। कोच को उम्मीद है कि भारत विश्व कप 2014 और लंदन ओलिम्पिक 2012 के क्वालीफायर मुकाबलों के दूसरे दौर तक पहुँचेगा।



और भी पढ़ें :