Sharavan 2020 : रुद्राभिषेक क्या है, कैसे करें राशि अनुसार रुद्राभिषेक


रुद्राभिषेक का वास्तविक अर्थ:-

अभिषेक शब्द का शाब्दिक अर्थ है़ स्नान करना या कराना। रुद्राभिषेक का अर्थ है भगवान रुद्र का अभिषेक ।
भगवान शिव को रुद्र कहा गया है और उनका रूप शिवलिंग में देखा जाता है। इसका अर्थ हुआ शिवलिंग पर रुद्र के मंत्रों के द्वारा अभिषेक करना। अभिषेक के कई रूप तथा प्रकार होते हैं। शिव जी को प्रसन्न करने का सबसे श्रेष्ठ तरीका है रुद्राभिषेक करना या फिर श्रेष्ठ ब्राह्मण विद्वानों के द्वारा करवाना। अपनी जटा में गंगा को धारण करने से भगवान शिव को जलधाराप्रिय माना गया है।

जानिए किस धारा का अभिषेक शुभ है आपकी राशि के लिए

1.

मेष- शहद और गन्ने का रस

2.

वृष- दुग्ध ,दही

3.

मिथुन-दूर्वा से
4.
कर्क- दुग्ध, शहद

5.
सिंह- शहद, गन्ने के रस से

6.

कन्या- दूर्वा एवं दही

7.

तुला- दुग्ध, दही

8.

वृश्चिक- गन्ने का रस, शहद, दुग्ध

9.

धनु- दुग्ध, शहद
10.

मकर- गंगा जल में गुड़ डाल कर मीठे रस से

11.

कुंभ- दही से

12.

मीन- दुग्ध, शहद, गन्ने का रस



और भी पढ़ें :