हिन्दू धर्म की 10 सर्वश्रेष्ठ नदियां...

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
हमें फॉलो करें
 
FILE
मानव सभ्यता का उद्भव और संस्कृति का प्रारंभिक विकास नदी के किनारे ही हुआ। ऋग्वेद में आर्यों के निवास स्थान को 'सप्तसिन्धु' प्रदेश कहा गया है। ऋग्वेद के नदीसूक्त (10/75) में आर्य निवास में प्रवाहित होने वाली नदियों का वर्णन मिलता है, जो मुख्‍य हैं:- कुंभा (काबुल नदी), क्रुगु (कुर्रम), गोमती (गोमल), सिन्धु, परुष्णी (रावी), शुतुद्री (सतलुज), वितस्ता (झेलम), सरस्वती, यमुना तथा गंगा। संपूर्ण जम्बूद्वीप का एक छोटा हिस्सा भारतवर्ष था और संपूर्ण भारतवर्ष का एक छोटा-सा हिस्सा आर्यावर्त था। भारत के मध्य में नर्मदा और गोदावरी, तो दक्षिण में कृष्ण और कावेरी थी। भारत के एक और ‍सिन्धु नदी और उसकी सहायक नदियां बहती हैं तो दूसरी ओर और उसकी सहायक नदियां बहती हैं। दोनों के बीच गंगा का जल भारत के हृदय में है। तीनों और उनकी सहायक नदियों से जुड़ा यह संपूर्ण क्षेत्र भारतवर्ष कहलाता था।> > कुंभा, क्रुगु, गोमती, सिन्धु, परुष्णी, शुतुद्री, सतलुज, विवस्ता, सरस्वती, यमुना, गंगा, नर्मदा, महानदी, ब्रह्मपुत्र, ताप्ती, कृष्णा, गोदावरी, कावेरी और ब्रह्मपुत्र को भारत की प्रमुख नदियां माना जाता है।
नर्मदा (मध्यप्रदेश-गुजरात से अरब की खाड़ी में लीन), महानदी (सिहवा रायपुर छत्तीसगढ़, उड़ीसा से बंगाल की खाड़ी में लीन), ब्रह्मपुत्र (भारत असम- बांग्लादेश से बंगाल की खाड़ी में लीन), ताप्ती, कृष्णा (महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र), गोदावरी (महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश से बंगाल की खाड़ी में लीन), कावेरी (सह्याद्रि पर्वत कर्नाटक से तमिलनाडु, बंगाल की खाड़ी में लीन)

 

पहले नंबर पर सिन्धु क्यों...

 




और भी पढ़ें :