अमेरिका के मर्फी और लिली ने तैराकी में जीता सोना

रियो डि जेनेरियो| पुनः संशोधित मंगलवार, 9 अगस्त 2016 (11:38 IST)
हमें फॉलो करें
रियो डि जेनेरियो। अमेरिका के रेयान मर्फी ने में तैराकी के 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के साथ ही इस खेल में वर्ष 1996 से चले आ रहे अमेरिकी दबदबे को बनाए रखा है तो वहीं महिलाओं की 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धा में हूटिंग का शिकार हुईं रूस की यूलिया एफिमोवा को पीछे छोड़ लिली किंग ने भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया।
 
मर्फी ने 51.97 सेकंड का ओलंपिक रिकॉर्ड समय निकालते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इस स्पर्धा का विश्व रिकॉर्ड वर्ष 2009 में आरोन पिरसोल ने 51.94 सेकंड समय लेकर बनाया था।
 
रियो में स्पर्धा का रजत पदक चीन के जू जियाऊ ने तथा कांस्य पदक 30 वर्ष की उम्र में पदार्पण कर रहे अमेरिका के डेविड प्लमर ने जीता। लंदन ओलंपिक 2012 के चैंपियन मैट ग्रेवर्स इस बार अपने पदक का बचाव नहीं कर सके।  
 
महिलाओं की 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धा में अमेरिकी तैराक लिली किंग ने जबरदस्त प्रदर्शन के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया। रूसी खिलाड़ी एफिमोवा को मुकाबले के दौरान दर्शकों का गुस्सा झेलना पड़ा जिन्होंने उनकी जमकर हूटिंग की। हालांकि वह रजत पदक हासिल करने में सफल रहीं। अमेरिका की केटी मेली ने कांस्य पदक जीता।
 
2012 लंदन ओलंपिक की चैंपियन रूटा मिलुताइते इस बार कोई कमाल नहीं कर सकीं और सातवें स्थान पर रहीं। इस स्पर्धा के दौरान दो बार डोपिंग के कारण निलंबन झेल चुकीं एफिमोवा को काफी हूटिंग का शिकार होना पड़ा। हालांकि 24 वर्षीय विश्व चैंपियन ने गत सप्ताह कानूनी लड़ाई जीतने के बाद ओलंपिक में जगह बनाई थी।
 
अमेरिकी चैंपियन लिली ने एफिनोवा को कड़ी टक्कर दी और एक मिनट 4.93 सेकंड का समय लेकर पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने एफिनोवा को 0.57 सेकंड से पीछे छोड़ा। लिली ने रूसी एथलीट पर व्यंग्य कसते हुए कहा कि साफ है कि आप ईमानदारी से भी शीर्ष पर रह सकते हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :