उत्तराखंड : भारी बारिश की चेतावनी, Orange Alert जारी

निष्ठा पांडे| Last Updated: सोमवार, 31 मई 2021 (21:07 IST)
देहरादून। 1 जून को उत्तराखंड के कई जिलों में का जारी किया गया है।2 जून को यलो अलर्ट है। 3 व 4 जून को पर्वतीय इलाकों में ही बारिश हो सकती है, वहीं मैदानी क्षेत्र में मौसम शुष्क रहने का अनुमान है। उत्तराखंड में इन दिनों हर दिन कहीं न कहीं बारिश हो रही है। कहीं-कहीं पर तो बारिश के रौद्र रूप भी लेने से भारी तबाही का भी कारण बन रही है। उत्तराखंड मौसम केन्द्र के अनुसार बारिश का यह क्रम अभी जारी रहेगा।
राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक आज 31 मई को भी पर्वतीय क्षेत्र में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। मैदानी क्षेत्र में बहुत हल्की बारिश की संभावना है। देहरादून, टिहरी, पौड़ी, अल्मोड़ा, नैनीताल, पिथौरागढ़ जिलों में गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है। इस दिन राज्य के देहरादून, टिहरी, पौड़ी, अल्मोड़ा, नैनीताल और पिथौरागढ़ जिले में कहीं-कहीं गर्जन के साथ बिजली चमकने की संभावना है।

राज्य के पर्वतीय क्षेत्र में कहीं-कहीं तीव्र बौछार पढ़ने की संभावना है। मैदानी क्षेत्र में कहीं-कहीं 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।पहाड़ों की रानी मसूरी में मौसम ने सोमवार को दोपहर में अचानक से मिजाज बदल लिया। मसूरी में तेज बारिश के साथ में भारी गिरावट दर्ज की गई।मसूरी में घना कोहरा और बारिश होने से मौसम सुहावना हो गया।

मसूरी में मौजूद पर्यटक और स्थानीय लोग बदले मौसम और बारिश का मजा ले रहे हैं, तापमान में गिरावट दर्ज होने से लोग ठंड का भी आनंद उठा रहे हैं। बता दें कि पिछले 2 दिनों से मसूरी में गर्मी का एहसास हो रहा था।सोमवार को अचानक बारिश होने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई।

द्वारा अगले 24 घंटे में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना जताई गई है और निचले इलाकों में भी हल्की बूंदाबांदी हो सकती है जिससे कई इलाकों में पड़ रही गर्मी से लोगों को कुछ राहत मिल पाएगी।
उन्होंने बताया कि एक जून को ऊंचाई वाले स्थानों पर बर्फबारी हो सकती है। इस दिन ऑरेंज अलर्ट है। देहरादून, बागेश्वर, नैनीताल और पिथौरागढ़ में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है।

पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं तेज बौछार पड़ सकती है। मैदानी क्षेत्र में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। पर्वतीय क्षेत्र में गर्जन के साथ तेज बौछारें पड़ सकती हैं। मैदानों में 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना है।

दो जून का यलो अलर्ट है। इस दिन कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश गर्जन के साथ हो सकती है। मैदानी इलाकों में कहीं-कहीं 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं। वहीं पर्वतीय इलाकों में बिजली चमकने की संभावना है। उन्होंने बताया कि तीन और चार जून को पर्वतीय क्षेत्र में कुछ इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। मैदानी क्षेत्र में मौसम शुष्क रहने की संभावना है।

उत्तराखंड मौसम केन्द्र के अनुसार प्रदेश में 24 जून के आसपास पहुंच सकता है। सामान्य मानसून एक जून को केरल के रास्ते भारत में प्रवेश करता है। इसके बाद उत्तराखंड पहुंचने में 20 दिन का समय लगता है। सामान्य तौर पर मानसून 21 जून या उसके बाद ही उत्तराखंड पहुंचता है। मौसम विभाग ने केरल में मानसून तीन दिन पिछड़ने की भविष्यवाणी की है। इस लिहाज से देखा जाए तो उत्तराखंड में 24 जून के आसपास मानसून पहुंचने की संभावना है।



और भी पढ़ें :