1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. प्रादेशिक
  4. Ujjain flooding
Written By
Last Updated: सोमवार, 20 जुलाई 2015 (18:00 IST)

उज्जैन, इंदौर, भोपाल हुआ पानी-पानी, देखें खास फोटो

मध्य प्रदेश में इस समय मानसून अपने पूरे शबाब पर है। 3 दिन पहले तक बारिश को तरस रहे मालवा क्षेत्र के इंदौर, उज्जैन और भोपाल में पिछले 24 घंटे से हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। प्रदेश की वाणिज्य राजधानी कहे जान वाले इंदौर में भी कई जगह जल-जमाव से यातायात प्रभावित हुआ है। यहां कान्ह नदी में एक किशोर के बहने की भी सूचना प्राप्त हुई है। 
उज्जैन में हालात बिगड़े: भारी वर्षा से उज्जैन में शिप्रा नदी और शहर के नाले उफान पर है जिसकी वजह से शहर में बाढ़ के हालात पैदा हो गए। 48 घंटों से हो रही बारिश ने कई इलाकों को टापू में तब्दील कर दिया। निचली बस्तियां जलमग्न हो गईं तो पॉश कॉलोनियों के घरों में भी कमर तक पानी भरा गया।

अगले पन्ने पर देखिए बारिश के खास फोटो
 
उज्जैन कलेक्टर के मुताबिक सोमवार को सभी स्कूल व कॉलेज में अवकाश की घोषणा की गई है। समस्त आपदा प्रबंधन के इंतजाम बढ़ा दिए हैं। बाढ़ की आधिकारिक घोषणा अभी नहीं हुई लेकिन जन-जीवन में इस भारी बारिश से हाहाकार मचा है। संत नगर, विद्यानगर क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति बंद है। नदी के पास के इलाके खाली करवा लिए गए हैं। कार्तिक चौक में नाव से लोगों को निकाला जा रहा है। जेसीबी मशीन की सहायता ली जा रही है। 
यही नहीं प्रसिद्ध महाकाल मंदिर का नंदीगृह भी जलमग्न हो गया। रामघाट में शिप्रा खतरे के निशान से चंद फिट नीचे बह रही है। उज्जैन में 444 मिमी और भोपाल में 148.8 मिमी बारिश हुई। 
 
रेल यात्री परेशान, स्कूल-कॉलेज में अवकाश : रेलवे ट्रैक पर पानी जमा होने से उज्जैन और नागदा के बीच रेल संपर्क कट गया। रेलवे ने 14 ट्रेनों को निरस्त कर दिया। जिला प्रशासन ने उज्जैन, शाजापुर, आगर देवास और इंदौर में सोमवार को स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी है।
जलमग्न बस्तियों के 600 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया। लोगों को नाव की मदद से बाहर निकाला गया। कई इलाकों में एक मंजिल तक पानी में डूबी थी। मध्यप्रदेश के ही विदिशा, गुना, रायसेन और राजगढ़ में भी बाढ़ के हालात हैं। बेतवा नदी में उफान के कारण विदिशा-रायसेन, विदिशा-अशोकनगर, सिंरोज-भोपाल का संपर्क कटा हुआ है। 

मध्यप्रदेश में पांच की मौत : मध्यप्रदेश में लगातार हो रही बारिश से पांच लोगों की मौत। बताया जा रहा है कि टीकमगढ़ जिले के किशोरपुरा गांव में एक ही परिवार के तीन लोगों की बिजली गिरने से मौत हो गई है जबकि बुरहानपुर में 33 साल के एक व्यक्ति की लाश को डावल नदी से निकला गया जहां तेज़ पानी में वो बह गए थे। दूसरी ओर देवास में लगातार हो रही बारिश की वजह से दीवार गिरने से एक महिला की मौत हो गई है। मध्यप्रदेश में उज्जैन की हालत सबसे खराब है।

अगले पन्ने पर देखिए उज्जैन बारिश फोटो...

चित्र सौजन्य : सीता शर्मा, आभा व्यास, जयंत तैलंग, रवीन्द्र भारद्वाज, अशोक कुमार चतुर्वेदी, महेन्द्र तिवारी 
उज्जैन में भारी बरसात, वाहनों में भरा पानी...
तेज बारिश में सामान खरीदकर घर का रुख करता एक युवक
भारी बारिश से वाहन चालकों को हुई परेशानी 
उज्जैन का जलमग्न क्षेत्र, खंबे तक आधे डूब गए... 
कई घरों और मंदिरों में भर गया पानी...

सड़कों पर पानी भरने से परेशान होते रहे लोग 
महाकाल के एक भक्त की कार में भर गया पानी... 
उज्जैन में सड़कें हुई जलमग्न, राहगीर परेशानी में 
बारिश के दौरान फिसला पैर, सड़क पर गिर गया युवक 
उज्जैन में डूबे मंदिर, धरती हुई तर-ब-तर... 
 
चारों ओर पानी ही पानी नजर आ रहा है.... 
लोगों के घरों में घुसा पानी, कई गाडि़या डूबी, रहवासी सकते में... 
भारी बारिश से रेल यात्रा भी हुई बाधित 
भारी बारिश के चलते दुकाने बंद, दुकानों में घुसा पानी