Shivamoga Tension: शिमोगा में पथराव और आगजनी के बाद तनाव बढ़ा, दूसरे जिलों में भी असर

Last Updated: मंगलवार, 22 फ़रवरी 2022 (09:44 IST)
हमें फॉलो करें
-राजेश पाटिल, बेंगलुरु से
के शिमोगा (Tension in Shivamoga) में बजरंग दल कार्यकर्ता हर्ष की हत्या के बाद आसपास के जिलों में भी तनाव उत्पन्न हो गया। शिमोगा में पथराव और आगजनी की घटना के बाद धारा 144 लगा दी गई।

इस बीच, पुलिस ने हत्या से जुड़े 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है तथा 1अन्य की गिरफ्तारी भी जल्द करने की बात कही है। बताया जा रहा है कि हमलावरों की संख्‍या 4 थी और वे कार से आए थे।

आसपास के जिलों में असर : शिमोगा की घटना का आसपास के जिलों में भी असर देखने को मिल रहा है। शिमोगा सहित बेंगलुरु, मैसूरू, हासन आदि जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। पुलिस ने उपद्रवियों की भीड़ पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े। उपद्रवी भीड़ ने पथराव के साथ ही कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। दूसरी ओर, लोगों ने ट्‍वीट कर आरोप लगाए हैं कि बजरंग दल के गुंडे मुस्लिमों के घर पर पथराव कर रहे थे और पुलिस मूकदर्शक बनी हुई थी।
आगजनी को रोकने के लिए पुलिस ने इलाके में भारी बल तैनात किया है। प्रशासन ने अगले आदेश तक स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने का आदेश दिया है। वहीं, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज एस बोम्मई ने कहा है कि पुलिस को जांच के दौरान कई अहम सुराग मिले हैं और वह उन पर काम कर रही है।
उल्लेखनीय है कि दर्जी का काम करने वाले बजरंग दल के 26 वर्षीय कार्यकर्ता हर्ष को कल रविवार को रात करीब 9 बजे अज्ञात लोगों ने चाकू मार दिया। गंभीर रूप से घायल हर्ष को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई। हालांकि शुरुआत में इस हत्या को हिजाब विवाद से जोड़कर देखा जा रहा था, लेकिन राज्य के गृहमंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा है कि अब तक की जांच में हत्या और हिजाब विवाद के बीच कोई संबंध सामने नहीं आया है।

विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने आरोप लगाया है कि गृहमंत्री ज्ञानेंद्र राज्य में कानून और व्यवस्था को संभालने में नाकाम रहे हैं। उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

गला काटने की धमकी : दूसरी ओर, श्रीराम सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि यदि सिंदूर लगाकर और चूड़ियां पहनकर स्कूल-कॉलेज जाने वाली लड़कियों को रोका गया तो हम गला काट देंगे।




और भी पढ़ें :