उद्धव बोले, यदि सावरकर प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान नहीं होता

Last Updated: बुधवार, 18 सितम्बर 2019 (00:56 IST)
मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि यदि हिंदुत्व विचारक वीर सावरकर उस समय देश के प्रधानमंत्री होते तो अस्तित्व में ही नहीं आता। उन्होंने वीर सावरकर को से सम्मानित किए जाने की मांग की।
ठाकरे ने एक आत्मकथा 'सावरकर: इकोज फ्राम अ फॉरगाटेन पास्ट' के विमोचन के मौके पर कहा कि सावरकर को भारत रत्न सम्मान से नवाजा जाना चाहिए। हम (महात्मा) गांधी और (पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल) नेहरू द्वारा किए गए काम से इनकार नहीं करते है, लेकिन देश ने दो से अधिक परिवारों को राजनीतिक परिदृश्य पर अवतरित होते हुए देखा।

ठाकरे ने कहा कि उन्हें नेहरू को वीर कहने में गुरेज नहीं होता यदि वह 14 मिनट भी जेल के भीतर सावरकर की तरह रहे होते। सावरकर 14 वर्षों तक जेल में रहे थे।

उन्होंने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गांधी को इस किताब की एक प्रति दी जानी चाहिए।

 

और भी पढ़ें :