10 साल के लड़के के साथ 16 साल की लड़की ने की जबरदस्ती

पुनः संशोधित सोमवार, 27 जून 2016 (18:07 IST)
लखनऊ। आए दिन खबरें आती हैं कि छोटी बच्चियों के साथ किशोर उम्र के लड़कों से लेकर उम्रदराज व्यक्ति तक गंदा काम करने से नहीं चूकते और ऐसे हवस के भूखों को पोस्को कानून का भी कोई खौफ नहीं होता। लेकिन इस बार जो खबर आई है, वो सनसनीखेज है जिसमें एक लड़की ने छोटे बच्चे को अपनी हवस का शिकार बनाया है। लड़की की उम्र 16 साल है जबकि लड़के की उम्र 10 साल... मामला कानपुर के एक गांव का है। 
कानपुर के एक गांव में 16 बरस की नाबालिग लड़की ने पड़ोस में रहने वाले अपनी उम्र से 6 साल छोटे लड़के को बहला-फुसलाकर उस वक्त अपने घर में बुलवाया, जब परिवार का कोई सदस्य घर में नहीं था। भोले-भाले लड़के ने सोचा कि दीदी को कोई काम होगा इसीलिए वह चला आया। उसे नहीं मालूम था कि उसकी दीदी की उम्र की लड़की उसके साथ घिनौना काम करने का इरादा रख रही है। 
 
जैसे ही लड़के ने घर में प्रवेश किया, लड़की ने दरवाजा बंद कर दिया। इसके बाद लड़की ने 10 साल के इस लड़के साथ जबरदस्ती यौन-संबंध बनाने का दबाव डाला। इसी क्रम में लड़के का गुप्तांग बुरी तरह जख्मी हो गया। किसी तरह यह लड़का, लड़की के चंगुल से भागा और अपने घर पहुंचकर घर वालों को अपने साथ हुए इस कांड की जानकारी दी। लड़के के परिजन उसे हैलेट अस्पताल ले गए, जहां उसके जख्मी गुप्तांग का डॉक्टर उपचार कर रहे हैं। 
 
इस घटना में पीड़ित और हमलावर दोनों नाबालिग हैं। पुलिस ने कहा कि वह मामले की पड़ताल कर रही है और यह देख रही है कि इस मामले को भारतीय दंड संहिता की किस धारा के तहत लिया जाए। कानपुर के एसएसपी शलभ माथुर ने भी पुष्‍टि करते हुए बताया कि इस मामले में पीड़ित और हमलावर दोनों नाबालिग हैं इसलिए शिकायत दर्ज करने में कठिनाई है। 
 
कानूनी जानकारों के अनुसार मामले को 'प्रोटेक्‍शन ऑफ चिल्‍ड्रन फ्रॉम सेक्‍सुअल एक्‍ट' (पोस्को) की धारा 8 के तहत लिया जा सकता है। फिलहाल लड़की की हवस का शिकार हुए बच्चे का अस्पताल में इलाज चल रहा है। दूसरी तरफ लड़की के परिजन भी शर्मसार हो रहे हैं।



और भी पढ़ें :