शहीदों के परिवारों को मिलेंगे 25-25 लाख रूपए और सरकारी नौकरी

गुरदासपुर| पुनः संशोधित मंगलवार, 5 जनवरी 2016 (19:07 IST)
गुरदासपुर। पठानकोट आतंकवादी हमले के दौरान अपनी जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए के मुख्यमंत्री प्रकाशसिंह बादल ने मंगलवार को राज्य के दो शहीदों - मानद कप्तान फतेह सिंह और हवलदार कुलवंत सिंह - के परिजनों को 25-25 लाख रुपए की वित्तीय सहायता और एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की एकता एवं अखंडता की रक्षा के दौरान अपने प्राणों की आहूति देने वाले इन शूरवीरों को श्रद्धांजलि देने का राज्य सरकार का यह छोटा-सा प्रयास है। यहां के कादियान विधानसभा क्षेत्र में संगत दर्शन कार्यक्रम के दौरान बादल ने पत्रकारों से कहा कि राज्य सरकार इन परिवारों को संकट की इस घड़ी से बाहर निकालने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। बादल ने कहा कि राज्य सरकार हमले के दौरान अपनी जान गंवाने वाले किसी भी सुरक्षाकर्मी के परिवार की मदद के लिए तैयार है और इसमें वह यह नहीं देखेगी कि वह पंजाब से है कि नहीं।
 
बादल ने कहा कि उन्होंने राज्य सरकार के अधिकारियों से कहा है कि संकट की इस घड़ी में वे ऐसे परिवारों की तरफ मदद का हाथ बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी से इन व्यथित परिवारों को बाहर निकालना हमारा परम कर्तव्य है, क्योंकि उन्होंने देश की अखंडता एवं संप्रभुता की रक्षा के लिए अपने प्राण गंवाए हैं।  
मुख्यमंत्री ने केंद्र से आग्रह किया है कि वे आतंकवादियों की किसी तरह की घुसपैठ को रोकने के लिए ‘सीमा पर सभी छिद्रों को भरे। उन्होंने कहा कि समय की मांग है कि सीमा पर सुरक्षा बढ़ाई जाए ताकि सीमा पार आतंकवाद को रोका जा सके।
 
उन्होंने कहा कि हम एक बार फिर इस मुद्दे को केंद्र के समक्ष उठाएंगे जिससे सुनिश्चित किया जा सके कि (पिछले साल जुलाई में हुए) दीनानगर जैसे आतंकवादी हमले और पठानकोट जैसे हमले दोबारा न हों। इससे पहले, कांग्रेस पर निशाना साधते हुए बादल ने एक जनसभा में आरोप लगाया था कि पार्टी ने राज्य के साथ बहुत अन्याय किया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :