अधिकारी का दावा, स्कॉर्पियो 'चोरी' होने के दिन वाजे और हिरन की मुलाकात हुई थी

Last Updated: शनिवार, 20 मार्च 2021 (08:55 IST)
मुंबई। जांचकर्ताओं ने शुक्रवार को दावा किया कि सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि 17 फरवरी को निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे और कारोबारी के बीच हुई थी। उन्होंने दावा किया कि इसी दिन हिरन के पास से स्कॉर्पियो कार 'चोरी' हुई थी। हिरन 5 मार्च को ठाणे में एक नहर के निकट मृत पाए गए थे।
उनके परिवार ने उनकी मौत में वाजे की भूमिका होने का आरोप लगाया था। जिलेटिन की छड़ों से लदी यही स्कॉर्पियो कार 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट खड़ी मिली थी जिसकी जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कर रही है।

ALSO READ:
महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने की पवार से मुलाकात, वाजे मामले की दी जानकारी


एक अधिकारी ने बताया कि हिरन की रहस्यमयी मौत से संबंधित मामले की जांच कर रहे आतंकवादरोधी दस्ते को दक्षिण मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) के निकट एक स्थान का सीसीटीवी फुटेज मिला है जिसमें वाजे और हिरन मर्सिडीज कार में बैठे दिख रहे हैं। विस्फोटक लदी कार मिलने के मामले की जांच कर रहे राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने वाजे की गिरफ्तारी के बाद कथित रूप से उनके द्वारा इस्तेमाल की गई वही मर्सिडीज कार जब्त कर ली थी।

अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि हिरन और वाजे करीब 10 मिनट तक कार में ही बैठे रहे। उन्होंने कहा कि हिरन ने दावा किया था कि 17 फरवरी को जब वे ठाणे में अपने घर से दक्षिण मुंबई की ओर जा रहे थे तो स्कॉर्पियो का स्टीयरिंग जाम हो गया था, इसलिए वे कार को मुलुंद-एरोली सड़क पर छोड़कर कैब से आगे चले गए थे। अगले दिन उनकी एसयूवी लापता हो गई थी।
अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में वाजे मर्सिडीज कार से पुलिस आयुक्त के कार्यालय से निकलते दिखे हैं। कार जब छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के बाहर रुकती है तो हिरन उसकी ओर आते दिख रहे हैं। वे कार में बैठते हैं और 10 मिनट बाद कार से निकल जाते हैं जबकि वाजे कार चलाकर आयुक्त के कार्यालय चले जाते हैं।

सूत्रों ने कहा कि एटीएस को संदेह है कि इस मुलाकात के दौरान ही हिरन ने स्कॉर्पियो की चाबी वाजे को सौंप दी थी। एनआईए ने अंबानी के घर के निकट एसयूवी खड़ी करने के मामले में कथित भूमिका के लिए 13 मार्च को वाजे को गिरफ्तार कर लिया था। इस सप्ताह की शुरुआत में एनआईए ने कहा था कि उसने सीएसएमटी के निकट पार्किंग में खड़ी काले रंग की मर्सिडीज कार जब्त की है जिसमें से 5 लाख रुपए, नोट गिनने की मशीन और 'अपराध में इस्तेमाल किए गए' कुछ दस्तावेज बरामद किए गए हैं।
इस बीच शुक्रवार को एनआईए के महानिरीक्षक अनिल शुक्ला एवं अधीक्षक विक्रम खलाते ने मुंबई के नवनियुक्त पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले से मुलाकात की। एनआईए के अधिकारियों ने करीब 30 मिनट पुलिस आयुक्त कार्यालय में बिताया। नागराले के पद्भार ग्रहण करने के बाद एनआईए के शीर्ष अधिकारियों की उनसे पहली मुलाकात थी।

एनआईए ने मुंबई पुलिस की अपराध खुफिया शाखा के कई अधिकारियों से भी पूछताछ की है, जहां पर वाजे तैनात था और अब तक 2 मर्सिडीज सहित 5 वाहन जब्त किए हैं। एनआईए की अदालत ने शुक्रवार को वाले के वकील के उस अनुरोध को अस्वीकार कर दिया जिसमें उन्हें वाजे से एजेंसी की हिरासत में रहने के बावजूद अकेले में मुलाकात करने की अनुमति मांगी थी। वाजे 25 मार्च तक एनआईए की हिरासत में हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :