नयनतारा सहगल ने फिर स्वीकारा साहित्य अकादमी अवॉर्ड

पुनः संशोधित शुक्रवार, 22 जनवरी 2016 (15:06 IST)
असहिष्णुता के खिलाफ लौटाने वाली ने अपना अवॉर्ड फिर स्वीकार कर लिया है। 
 
जवाहर लाल नेहरू की भानजी नयनतारा ने हाल ही में अपना अवॉर्ड वापस ले लिया। वह अवॉर्ड लौटाने वाले पहले साहित्यकारों में से एक थीं।
 
सहगल ने कहा, अकादमी ने मुझे एक चिट्ठी लिखी है। इसमें कहा गया है कि लौटाया हुआ अवॉर्ड रिसीव करना हमारी नीति के खिलाफ है। इसलिए हम यह अवॉर्ड आपको वापस भेज रहे हैं। सहगल ने अपना एक लाख रुपए का चेक भी लौटा दिया था। 



और भी पढ़ें :