OMG! कमर तक पानी में मगरमच्छों के बीच से स्कूल जाते हैं बच्चे

केंद्रपाड़ा| पुनः संशोधित रविवार, 14 अगस्त 2016 (14:50 IST)
केंद्रपाड़ा (ओडिशा)। केंद्रपाड़ा जिले में दूरदराज के एक गांव में पुल संपर्क से महरुम छात्रों को मगरमच्छों से भरी एक खाड़ी से कमर तक पानी से गुजरकर रोजाना अपने जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।
 
राजकनिका तहसील के अंतर्गत बुरुदिया गांव के बच्चों के लिए यह एक है, क्योंकि मगरमच्छों द्वारा उन पर हमला करने का खतरा हमेशा बना रहता है। इस गांव में स्कूल नहीं है। इसका करीबी स्कूल तरासा गांव में हैं, जो बुरुदिया से 1 किलोमीटर से अधिक दूरी पर स्थित है। जिस खाड़ी को पार कर बच्चे स्कूल जाते हैं वह दो गांवों को अलग करती है।
 
एक स्थानीय निवासी रामचंद्र मोहंती ने बताया कि खाड़ी काफी संकरी है और बरसाती मौसम में इसमें पानी भर जाता है। इस खाड़ी को समुद्री पानी के मगरमच्छों के निवास वाले गलियारे के रूप में जाना जाता है। हमारे गांव में कोई स्कूल नहीं है, ऐसे में हमें बच्चों को पड़ोसी गांव में भेजने को मजबूर होना पड़ता है। बच्चों को शिक्षा हासिल करने के लिए नदी की चुनौती को पार करके जाना पड़ता है। 
 
हालांकि अभिभावक और माता-पिता उनकी सुरक्षा के लिए उनके साथ जाते हैं। सिविल सोसाइटी ग्रुप के सदस्य सुभरानसु सुतार ने बताया कि माता-पिता अपने बच्चों की सुरक्षा को तरजीह देते हैं और जब प्रवाह अधिक रहता है तो बच्चों को स्कूल नहीं भेजा जाता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :