1. खबर-संसार
  2. »
  3. समाचार
  4. »
  5. प्रादेशिक
Written By WD

यूपीए को ताकत दें-यादव

बसपा सरकार की जनविरोधी और अलोकतांत्रिक कारगुजारियों के खिलाफ समाजवादी पार्टी चुप नहीं बैठेगी। लोकसभा चुनाव में हमें 'करो या मरो' के संकल्प के साथ जुटना है।

यह बात समाजवादी पार्टी की राज्य कार्यकारिणी की मंगलवार को हुई बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायमसिंह यादव ने कही। उन्होंने कहा एक तरफ केंद्र सरकार भारतीय अर्थव्यवस्था को चौपट करने पर तुली हुई है, वहीं राज्य में बसपा सरकार जातिवादी जहर फैलाने में जुटी है। भाजपा राष्ट्र को सांप्रदायिकता की आग में झोंकने में लगी हुई है। ऐसे में समाजवादी पार्टी को गरीबों और किसानों के पक्ष में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाना होगी।

यादव ने कहा कि पार्टी के अधिकांश मतदाता गाँवों में बसते हैं और गाँवों में ही समस्याएँ सबसे ज्यादा हैं। बसपा सरकार की नीतियों के कारण किसान तबाह हो रहे हैं। प्रदेश में बसपा सरकार के खिलाफ जनता में भारी आक्रोश है। किसान समस्याओं से ग्रस्त हैं।

उन्होंने कहा विद्युत आपूर्ति 5-6 घंटे से ज्यादा प्रदेश में कहीं भी नहीं मिल रही है। इतनी भ्रष्ट और निकम्मी सरकार कभी नहीं आई। आम आदमी महँगाई से त्रस्त है और राज्य सरकार लूट-खसोट में व्यस्त है।

सरकार ने वैट लागू कर न सिर्फ महँगाई को बढ़ाया है, बल्कि राजस्व भी घटा है। बसपा सरकार का लोकतंत्र में विश्वास नहीं है। सरकार विपक्षियों की खुलेआम हत्या करा रही है। कार्यकारी अध्यक्ष शिवपालसिंह यादव ने कहा विगत हुए उपचुनावों में बसपा सरकार द्वारा फर्जी मतदान एवं धाँधली कराई गई।

सरकारी अधिकारी बसपा की चुनावी बूथ कमेटियाँ बनवाने में सहयोग कर रहे हैं, इसलिए समाजवादी पार्टी की दोहरी जिम्मेदारी है कि एक तरफ बसपा सरकार द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव में होने वाली धाँधलियों को रोकें और सपा की बूथ स्तर तक कमेटी बनाकर गाँव-गाँव जन संपर्क करें।