मात्र 31 बार पढ़ें कीलक स्तोत्र का यह असरकारी मंत्र और देखें चमत्कार

Navratri Mantra
Keelak Mantra
मात्र 31 बार कीलक स्तो‍त्र के निम्नलिखित मंत्र का जप करने से आश्चर्यजनक रूप से मन की शांति का आभास होता है और विचारों में सकारात्मकता आती है। लेकिन शर्त यही है कि पहले गणेश जी के किसी भी की एक माला (108 बार मंत्र जाप) करें। तत्पश्चात इस मंत्र को पूर्ण एकाग्र होकर जपें।

जब तक आंखें बंद करने पर कोई एक विशेष रंग नजर ना आने लग जाए मन को ध्यानस्थ ना मानें। जब मन एक बिंदु पर आकर स्थिर हो जाए तब मंत्र का 31 बार जाप करें और स्वयं देखें चमत्कार।

श्री गणेश मंत्र-

'ॐ गं गणपतये नमः'

कीलक स्तो‍त्र का मंत्र-

'ॐ विशुद्धज्ञान देहाय त्रिवेदी दिव्य चक्षुषे।
श्रेय: प्राप्तिनिमित्ताय नम: सोमार्ध धारिणे।।'



और भी पढ़ें :