पंडालों में विराजेंगी माँ

ND

मंदिरों के अलावा अनेक जगहों पर पंडालों में माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाएँगी। इन आकर्षक प्रतिमाओं के दर्शन करने तथा पूजा-आरती के दौरान पंडालों पर भी श्रद्धालु उमड़ते हैं। विभिन्न जगहों पर इन प्रतिमाओं का निर्माण तेजी से किया जा रहा है।


शेर पर सवार माँ हाथ में त्रिशूल लेकर अनेक स्थानों पर विराजित की जाएँगी। कुछ समिति वाले माँ को विकराल रूप में दिखाने की बजाय सौम्य रूप प्रदान करते हैं। इस बार विभिन्न जगहों पर नौ दिन चलने वाले समारोह में प्रतिदिन भंडारे की व्यवस्था की जाएगी।

गरबा में झूमेंगे युवा : नवरात्रि के पूरे नौ दिन तक गरबा के माहौल में युवा रंग जमाएँगे। इसके लिए अनेक जगहों पर गरबा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसमें युवाओं के अलावा उम्रदराज महिलाएँ भी सीख रही हैं। कुछ वर्षों से बड़ी कंपनियाँ व व्यवसायी भी गरबा को प्रायोजित करने लगे हैं।


साड़ी के साथ फ्रेंच रोल साड़ी नारी के सौंदर्य की पहचान है। समय बदलने के साथ साड़ी पहनने के तरीकों में भी बदलाव आया है। अब साड़ी को ही महिलाएँ स्टाइलिश रूप से पहनतीं हैं।

नॉट साड़ी, मुमताज साड़ी, बंगाली साड़ी, बेल्ट बॉर्डर साड़ी, राजस्थानी, सीधे पल्ले की साड़ी, स्क्रैश साड़ी, महाराष्ट्रीयन, मद्रासी, मणिपुरऔर फैंसी साड़ियों के साथ फ्रैंच रोल, जड़े, फ्लावर हेयर स्टाइल और स्टफिंग चैन जैसी सरल और मिनटों में बनने वाली हेयर स्टाइल गरबा क्वीन अपना रही हैं।



और भी पढ़ें :