5 राज्यों में 41 की मौत, सैकड़ों लोग फंसे, ट्रेकिंग पर गए IIT रुड़की के 35 छात्र सुरक्षित, अब मुंबई, केरल और कर्नाटक में अलर्ट...

Last Updated: मंगलवार, 25 सितम्बर 2018 (12:48 IST)
बिगड़ते मौसम से जहां पंजाब, हिमाचल, हरियाणा और में से तबाही हो रही है वहीं चंडीगढ़ में पड़ने लगी ठंड। जी हां, आमतौर पर जहां इस समय 32 डिग्री तापमान होना चाहिए वहीं इस समय दिन में ही तापमान 23 डिग्री के आस-पास पहुंच गया है।

लगातार भारी से में अबतक 11, हिमाचल, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर में 8-8 और उत्तराखंड में छह मौतों की पुष्टि हो चुकी है। सड़कें बह जाने और भूस्खलन से में 1600 लोग अलग-अलग जगहों पर फंसे हुए हैं।

बताया जा रहा है कि हिमाचल के चंबा में 816 बच्चों समेत 1200 लोग फंसे हैं। इसी तरह मशहूर पर्यटन स्थल लाहौल-स्पीति में 350 से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं। अच्छी खबर यह है कि लाहौल-स्पिति में ट्रेकिंग पर गए आईआईटी रुड़की के 35 छात्र सुरक्षित हैं। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मीडिया को पर्यटकों और छात्रों के सुरक्षित होने की पुष्टि की है।

आखिर क्यों मची है तबाही: इसका बड़ा कारण है लौटता मानसून। ओडीसा में आए साइक्लोन डेई के कारण उत्तर भारत में हरियाणा के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बन गया जिससे गर्मी और आद्रता बढ़ने से अपर एयर साइक्लोनिक सर्कुलेशन बढ़ गया जिसकी वजह से भारी बरसात और पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी हुई।

आगे क्या: मौसम विभाग के अनुसार अब अगले 2-3 दिनों में मुंबई, हिमाचल,केरल और कर्नाटक में भारी बारिश के आसार हैं।

 

और भी पढ़ें :