जाधव मामले में बोले स्वामी, बलूचिस्तान को स्वतंत्र देश घोषित करे भारत

नई दिल्ली| Last Updated: बुधवार, 12 अप्रैल 2017 (08:20 IST)
नई दिल्ली। राज्यसभा सांसद एवं भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि यदि भारतीय नागरिक को फांसी पर लटकाता है तो नई दिल्ली को को एक स्वतंत्र देश के रूप में मान्यता देनी चाहिए।
स्वामी का मानना है कि इस दिशा में कदम उठाने से पाकिस्तान डर जाएगा और उसे जाधव मामले में झुकना पड़ेगा।

पूर्व भारतीय नौसैन्य अधिकारी जाधव को पाकिस्तान में जासूस घोषित किए जाने के बाद वहां सैन्य अदालत ने मृत्युदंड की सजा दी है।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, 'यदि पाकिस्तान जाधव को फांसी पर लटकाता है तो भारत को बलूचिस्तान को स्वतंत्र देश के रूप में मान्यता देनी चाहिए।' स्वामी ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा कि जाधव के लिए वाणिज्यदूतावास की सेवाओं के बारे में पूछना निर्थक है।
सांसद ने कहा कि पाकिस्तान ने दावा किया कि जाधव बलूचिस्तान में समस्या पैदा कर रहे हैं जिसके बाद उसने जाधव को निशाना बनाया।

उन्होंने कहा, 'यदि जाधव को कुछ होता है तो हमें पाकिस्तान को डराना चाहिए.. हम बलूचिस्तान को स्वतंत्र देश समझेंगे और बलूच प्रतिनिधियों को बुलाएंगे और उन्हें निर्वासन में सरकार का गठन करने को कहेंगे।'

इस बीच भाजपा सांसद एवं पूर्व गृह सचिव आर के सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के साथ जैसे को तैसे की सख्त नीति अपनाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी हमले करने की कोशिश करने के मामले में भारत में हर महीने कई पाकिस्तानी नागरिक गिरफ्तार किए जाते हैं और यदि नई दिल्ली भी उसकी तरह ही व्यवहार करने लगे तो उन सभी को फांसी पर लटका दिया जाएगा। (भाषा)



और भी पढ़ें :