1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Protest against Agnipath Recruitment Scheme in bihar
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 17 जून 2022 (15:57 IST)

बिहार में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनों की 28 बोगियों में लगाई आग, फंसी बच्चों से भरी स्कूल बस

पटना। बिहार में सशस्त्र बलों में भर्ती की नई ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ आक्रोशित युवाओं का विरोध प्रदर्शन तीसरे दिन शुक्रवार को भी जारी रहा और प्रदर्शनकारियों ने तीन ट्रेन की 28 बोगियों में आग लगा दी। विरोध-प्रदर्शन के कारण लगभग बीस ट्रेन को रद्द कर दिया गया है, जबकि कई अन्य को वैकल्पिक मार्गों से चलाया गया।
समस्तीपुर जिले में प्रदर्शनकारियों ने नई दिल्ली से दरभंगा जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन के 10 डब्बों को आग के हवाले कर दिया। प्रदर्शकारियों ने समस्तीपुर में रेल गुमटी संख्या 54 पर भी रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाया और शहर में सड़कों पर खड़ी एक दर्जन से अधिक गाड़ियों में तोड़फोड़ की।
 
दरभंगा में बच्चों से भरी एक बस प्रदर्शन के बीच फंस गई। उग्र भीड़ को देख बस में सवार बच्चे घबरा गए और उनकी आंखों से आंसू निकल आए।
 
मुहद्दिनगर थाना प्रभारी उमेश पासवान ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने मुहद्दिनगर स्टेशन पर जम्मू से गुवाहाटी जाने वाली लोहित एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी जिससे उक्त ट्रेन के 6 डिब्बे जलकर राख हो गए।
 
लखीसराय में प्रदर्शनकारियों ने नई दिल्ली से भागलपुर जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी। इस ट्रेन की 12 बोगी आग लगने से क्षतिग्रस्त हो गईं। घटना की सूचना मिलने पर आरपीएफ और स्थानीय पुलिस द्वारा स्थिति पर नियंत्रण पाने का प्रयास किया जा रहा है।
 
भागलपुर में आक्रोशित युवाओं ने कहलगांव रेल स्टेशन पर जयनगर हावड़ा डाउन ट्रेन को रोके रखा और रेल पटरी पर खड़े होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
 
कहलगांव रेल स्टेशन प्रबंधक वीरेंद्र मंडल ने बताया कि कहलगांव के अनुमंडल पदाधिकारी और स्थानीय पुलिस को मामले की सूचना दे दी गई है। रेल पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है तथा आंदोलनकारी छात्रों को समझाने बुझाने के प्रयास में जुटी है।
 
बक्सर में प्रदर्शनकारियों ने डुमरांव तथा बिहिया रेलवे स्टेशनों के पास रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है जिससे हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेल मार्ग पर ट्रेनों का परिचालन बाधित है।
 
प्रदर्शनकारियों ने डुमरांव रेलवे क्रॉसिंग के समीप टायर जलाकर रेल पथ को जाम कर दिया और जमकर सरकार विरोधी नारेबाजी की।