कांग्रेस ने PM मोदी से किया सवाल, चीन को कब दिखाएंगे 'लाल आंखें'

india china
Last Updated: सोमवार, 31 अगस्त 2020 (14:40 IST)
लद्दाख में एलएसी पर ड्रेगन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। चीनी सैनिकों ने एक बार फिर घुसपैठ की कोशिश की है। चीनी घुसपैठ का भारतीय सैनिकों ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। एक तरफ जहां दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए चुशूल में कमांडर स्तर की बातचीत चल रही है, वहीं चीनी और भारतीय सैनिकों में फिर झड़प हुई है। भारत-चीन मुद्दे से जुड़ा हर अपडेट

12:27PM, 31st Aug
चीनी घुसपैठ पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा। 
12:17PM, 31st Aug
हमारे जम्मू संवाददाता सुरेश डुग्गर के मुताबिक 500 से ज्यादा चीनी सैनिक टेंटो के साथ आए थे। इन सैनिकों ने 2 से 3 टेंट लगा भी लिए थे। 
12:15PM, 31st Aug
बयान में कहा गया है कि भारतीय सैनिकों ने चीन की नापाक हरकत को पहले ही भांप लिया और इसका करारा जवाब देते हुए इस कोशिश को विफल कर दिया। चीनी सैनिकों की यह हरकत दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत में बनी सहमति का उल्लंघन है।
12:15PM, 31st Aug
चीन के सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में एक बार फिर नापाक हरकत करते हुए दोनों देशों के बीच बनी सहमति का उल्लंघन कर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की है, जिसका भारतीय सैनिकों ने करारा जवाब दिया और विफल कर दिया है। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि पूर्वी लद्दाख में पिछले 3 महीने से भी अधिक समय से चले आ रहे गतिरोध के बीच चीनी सैनिकों ने 29 और 30 अगस्त की रात को पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर भड़काऊ हरकत की और यथास्थिति बदलने की कोशिश की।
12:13PM, 31st Aug
भारतीय सेना के मुताबिक 29-30 अगस्त की रात पैंगोंग झील के पास चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की। इसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया। खबर के मुताबिक झड़प में कोई भारतीय सैनिक हताहत नहीं हुआ है। 15 जून को गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी।



और भी पढ़ें :