नड्डा की नई टीम को लेकर BJP के अंदर नाराजगी, राहुल सिन्हा बोले- 40 साल की सेवा का यह 'पुरस्कार' मिला

Last Updated: रविवार, 27 सितम्बर 2020 (23:50 IST)
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (BJP) की केंद्रीय इकाई के संगठन में शनिवार को फेरबदल के बाद उसकी बंगाल इकाई में असंतोष सामने आया और राष्ट्रीय सचिव पद से हटाए गए राहुल सिन्हा (Rahul Sinha) ने कहा कि उन्होंने जिस पार्टी की 40 साल तक समर्पित भाव से सेवा की, उसी का यह ‘पुरस्कार’ है।
ALSO READ:
Coronavirus Vaccine को लेकर सरकार से सवाल पूछने वाले SII के CEO अदार पूनावाला ने की PM मोदी की प्रशंसा
सिन्हा ने वीडियो संदेश में कहा कि मैं पार्टी से पिछले 40 साल से जुड़ा हूं। आज पार्टी ने मुझे यह पुरस्कार दिया। उसने उन नेताओं का मार्ग प्रशस्त करने के लिए मुझे हटाया तो तृणमूल कांग्रेस से आए हैं। संभवत: उनका इशारा मुकुल रॉय और अनुपम हजारा की ओर था जो पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। सिन्हा ने कहा कि मैं अपने अगले कदम की घोषणा करने से पहले 10-12 दिन इंतजार करूंगा। लगातार 2 बार प्रदेश अध्यक्ष रहे सिन्हा को 2015 में राष्ट्रीय सचिव नियुक्त किया गया था।
नए चेहरों को टीम में मिली जगह : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा ने चर्चित लोगों समेत कई नए चेहरों को जगह देकर टीम को अखिल भारतीय स्वरूप प्रदान करने की कोशिश की। भाजपा की नई सूची में 70 पदाधिकारी हैं जिनमें 12 उपाध्यक्ष, आठ महासचिव, 13 सचिव और 23 प्रवक्ता हैं। नड्डा की नई टीम से पूर्व मंत्री उमा भारती की उपाध्यक्ष पद से तथा राम माधव, पी. मुरलीधर राव, सरोज पांडे और अनिल जैन की महासचिव पद से छुट्टी कर दी गई है।



और भी पढ़ें :