मोदी का ‘स्वच्छता अभियान’ बिल्कुल संभव है: आमिर

पुनः संशोधित सोमवार, 27 अक्टूबर 2014 (07:36 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। बॉलीवुड स्टार आमिर खान ने यहां कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा हाल ही में शुरू किया गया बिल्कुल संभव है, यदि नगर पालिकाएं एवं देश के नागरिक दोनों ही अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का ठीक तरह से निर्वहन करें।
 
टेलीविजन कार्यक्रम ‘मुमकिन है’ का लाइव प्रसारण यहां से करने के बाद आमिर से पूछा कि प्रधानमंत्री द्वारा स्वच्छता अभियान से क्या देश को साफ-सुथरा करना संभव है, तो उन्होंने कहा, ‘मेरा विचार है कि यह संभव है।’ उन्होंने इस मुद्दे पर अपने प्रसिद्ध टेलीविजन कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते’ पर ‘सॉलिड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट’ की एक कड़ी का जिक्र करते हुए कहा कि यदि नगर पालिकाएं और देश के नागरिक इस विधि को अपनाते हैं, तो यह संभव है।
 
आमिर ने कहा कि लोग इलाके को साफ-सुथरा रखने में सहायता करेंगे और इसके लिए उन्होंने लोगों द्वारा अपने घरों में फलों और साग-सब्जियों से उत्पन्न कचरे को निपटाने में वर्षों पुराने प्रयोग में लाए गए तरीकों का उदाहरण भी पेश किया। उन्होंने कहा, ‘सॉलिड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट’ से गैस, खाद और बिजली बना सकते हैं।
 
आमिर ने कहा कि ‘सॉलिड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट’ पर दिखाया गया कार्यक्रम लोगों की भलाई के लिए दोबारा प्रसारित किया जाएगा, क्योंकि प्रधानमंत्री ने भी इस मुद्दे पर लोगों को शिक्षा देने का प्रयास किया है। एक प्रश्न के उत्तर में आमिर ने कहा कि वह दिसंबर 1984 में हुई भोपाल गैस त्रासदी पर एक ‘एपिसोड’ बनाने के लिए विचार करेंगे। इस त्रासदी को विश्व की भीषणतम औद्योगिक दुर्घटना माना जाता है।
 
उन्होंने ग्वालियर शहर का उदाहरण देते हुए कहा कि सत्यमेव जयते से प्रेरित होकर जिले के कलेक्टर ने शहर के लगभग 95 प्रतिशत भाग को निशक्तों के लिए विभिन्न प्रकार की सुविधाएं मुहैया करा दी हैं।
 
आमिर ने महाराष्ट्र का भी उदाहरण देते हुए कहा कि वहां उनके टेलीविजन कार्यक्रम से पहले 1000 पुरुषों पर 819 महिलाएं थीं, लेकिन इस मुद्दे पर कार्यक्रम के प्रसारण के बाद इसमें सुधार हुआ और अब वहां 1000 पुरुषों पर 940 महिलाएं हो गई हैं।
 
‘लव जिहाद’ पर पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्होंने इस विषय पर अब तक कोई शोध नहीं किया है और इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं। हालांकि, उन्होंने कहा, ‘मेरे अपने परिवार में मेरी पत्नी हिन्दू है, जबकि मैं खुद एक मुसलमान हूं। मेरी पहली पत्नी भी हिन्दू थी और हम सब दोनों धर्मों के त्योहारों को मनाते हैं।’ आमिर ने कहा कि वह बलपूर्वक किए गए धर्म परिवर्तन के खिलाफ हैं।
 
जब उनसे पूछा गया कि क्या वह इस मुद्दे पर एक ‘एपिसोड’ बनाना चाहेंगे, तो उन्होंने कहा, ‘हम इस पर विचार करेंगे।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :