बॉलीवुड नगरी देव आनंद के शोक में डूबी

FILE
बॉलीवुड के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज राजू ‘गाइड’ के साथ एक अनोखी प्रेम कहानी की नायिका ‘रोजी’ वहीदा रहमान ने देव साहब के निधन की खबर सुनकर यही कहा कि उन्हें यह खबर सुनकर बेहद दुख हुआ है क्योंकि देव उनके पहले नायक थे और उन्होंने अपनी अधिकतर फिल्में उन्हीं के साथ की थीं।

वहीदा कहती हैं कि बॉलीवुड को हमेशा उनसे कुछ न कुछ सीखने को मिला क्योंकि उनके अंदर बहुत उर्जा थी। उन्होंने कहा कि मैं अक्सर उनसे कहती थी कि देव लगता है तुम्हारे अंदर एवरेडी बैटरी लगी है।

मैगास्टार ने ट्वीटर पर लिखा है कि एक युग समाप्त हो गया। देव आनंद एक ऐसा शून्य छोड़ गए हैं जो शायद कभी नहीं भरा जा सकेगा। कभी हार न मानने का उनका विश्वास और जिंदगी को जश्न की तरह जीने की ललक।

उन्होंने लिखा कि पिछले ही दिनों एक समारोह में देव साहब से मुलाकात हुई थी.... वह कमजोर लग रहे थे लेकिन जिंदादिली से भरपूर थे। मीडिया से उनके निधन की खबर की पुष्टि हुई। दुखद है। देव साहब के बारे में खबरों को खंगाल रहा हूं। प्रार्थना कर रहा हूं कि ये सच न हों। वह इतनी सकारात्मक सोच वाले इंसान थे कि कभी मौत उनसे जुड़ी दिखी ही नहीं।

सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने कहा ‍कि उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और न ही किसी चीज पर उन्हें पछतावा था। उनका एक महान व्यक्तित्व था।

वरिष्ठ फिल्म निर्माता महेश भट्ट ने कहा कि मुंबई में सुबह के आगाज के साथ ही यह खबर सुनने पर मैं उस महान कलाकार को सलाम करता हूं जो हमारे दिलों में अपनी मुस्कान छोड़ गया है।

अनुपम खेर ने कहा कि देव साहब को श्रद्धांजलि देने के लिए आज केवल उनके गीतों को गुनगुनाने का मन है। वो गीत जो हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गए हैं। अभी ना जाओ छोड़कर.... देव साहब एक दयालु, जुनूनी, साहसी, दूरदर्शी , खुशमिजाज , हौसलाअफजाई करने वाले एक महान इंसान थे। हमें हमेशा उनकी याद आएगी।

अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने कहा कि देव आनंद के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ है। एक और महान अभिनेता मंच से चला गया। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं.... वो हमेशा याद आएंगे।

अभिषेक बच्चन ने ट्वीट किया है कि देव साहब के निधन की खबर सुनकर सदमा लगा है। वह एक महान व्यक्ति और महान अभिनेता थे। सकारात्मकता के प्रतीक। कभी नहीं सोचा था कि सुबह इस खबर के साथ होगी। बहुत दुखी हूं।

मुंबई| भाषा|
हिंदी फिल्म जगत जिंदगी जीने का नया सलीका सिखाने वाले ‘सदाबहार’ अभिनेता के चले जाने के गम में डूबा है और सभी की जुबान पर यही शिकवा है कि देव साहब के साथ एक युग का अंत हो गया।
फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर ने कहा कि अभी भी खबर पर विश्वास नहीं हो रहा है। वह उर्जा और जिंदगी के जश्न से लबरेज इंसान थे। (भाषा)



और भी पढ़ें :