पाक यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी, नए डिब्बे जोड़े गए

बाड़मेर| भाषा| पुनः संशोधित रविवार, 1 जून 2014 (16:21 IST)
FILE
बाड़मेर। भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाली में यात्रियों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए पिछले 1 ही महीने के भीतर 3 बार डिब्बों की संख्या बढ़ाई गई है। 31 मई को थार एक्सप्रेस 12 डिब्बों के साथ पहुंची।

ट्रेन में पाकिस्तानी यात्रियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। दूसरी ओर पाकिस्तानी यात्रियों की संख्या की तुलना में एक-चौथाई भारतीय ही पाकिस्तान आ-जा रहे हं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी अधिकारियों की मांग के बाद थार एक्सप्रेस में डिब्बों की संख्या बढ़ाई गई है।
उत्तर-पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी गोपाल शर्मा ने बताया कि पहले थार एक्सप्रेस में कुल 9 डिब्बे थे। हाल में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए 5 अप्रैल को 2 डिब्बे बढ़ाए गए।

उन्होंने बताया कि 2 डिब्बे बढ़ाए जाने के बाद भी बीते 1 माह के दौरान थार एक्सप्रेस में यात्री संख्या में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके बाद 3 मई को इस ट्रेन में 2 और डिब्बे जोड़े गए।
शर्मा के मुताबिक 3 और 10 मई को थार एक्सप्रेस 13 डिब्बों के साथ रवाना हुई। 31 मई को यह 12 डिब्बों के साथ मुनाबाव पहुंची।

गौरतलब है कि थार एक्सप्रेस की शुरुआत के समय इस रेल में 7 डिब्बे थे लेकिन बाद में बढ़ती यात्री संख्या को देखते हुए 2007 में 1 डिब्बा बढ़ाया गया। उसके बाद वर्ष 2012 में 1 और डिब्बा बढ़ाया गया।
लेकिन इस बार 1 माह के भीतर ही दो बार में कुल 4 डिब्बे बढ़ाए गए हैं। रेलवे का कहना है कि यात्री भार को देखते हुए अस्थाई रूप से डिब्बों की संख्या को घटाया-बढ़ाया जाता है।

थार एक्सप्रेस इस मार्ग पर भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली साप्ताहिक ट्रेन है, जो हर शुक्रवार को भगत की कोठी रेलवे स्टेशन (जोधपुर) से रवाना होकर भारत के अंतिम रेलवे स्टेशन के मुनाबाव तक जाती है। वहां पर सुरक्षा जांच के बाद यात्रियों को पाकिस्तान से आने वाली ट्रेन में बिठाकर रवाना किया जाता है। वापसी में यही रेल पाकिस्तान से आने वाले यात्रियों को जोधपुर लाती है।
तय नियमानुसार 6 माह तक भारत की ट्रेन सीमा पार पाकिस्तान जाती है और 6 माह तक पाकिस्तान की ट्रेन भारत आती है। मौजूदा समय में यह पाकिस्तानी ट्रेन कराची से रवाना होकर भारत आ रही है। (भाषा)



और भी पढ़ें :