astrology yogas : हथेली या कुंडली में 'मुकुट योग' होगा तो बनेंगे श्रेष्ठ खिलाड़ी


को एक ऐसा योग बताया गया है, जिसके बनने पर व्यक्ति एक अच्छा खिलाड़ी बन सकता है और देश-विदेश में नाम रोशन करता है तो चलिए जानते हैं कैसे बनता है मुकुट योग....

मुकुट योग क्या होता है: मुकुट योग ज्योतिष में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इस योग के लिए कुंडली में गुरु की स्थिति नवम से नवम में होनी अनिवार्य है। यानी आपका गुरु का अपनी राशि से नवीं राशि में स्थित होना जरूरी है। इसी के साथ ही गुरु से नवें भाव में कोई शुभ ग्रह स्थित हो। इसी के साथ शनि भी दसम भाव में स्थित होना चाहिए। तब ही इस योग का निर्माण होता है। अगर इनमें से एक भी स्थिति न बने तो मुकुट योग का निर्माण नहीं होता है। यह योग अक्सर खिलाड़ियों की कुंडली में ही बनता है और इस योग में जन्मा व्यक्ति एक श्रेष्ठ खिलाड़ी बनता है।

हाथ में : यदि कोई व्यक्ति मंगल प्रधान हो और उसका बाहरी मंगल का क्षेत्र उभरा हुआ हो, विकसित हो। इसी के साथ मंगल पर्वत से यदि कोई रेखा सूर्य पर्वत की और जाए। वहीं अगर आपके हाथ में एक स्वास्तिक चिन्ह भी बन रहा हो और यह रेखा उस स्वास्तिक के चिन्ह से होकर गुजर जाए तो इस प्रकार हाथ में बनने में वाले योग को मुकुट योग के नाम से जाना जाता है। इस प्रकार का व्यक्ति में दृढ़ निश्चयी होता है। उसके सोचने और निर्णय लेने की क्षमता भी गजब की होती है। इसलिए इस योग को एक श्रेष्ठ योग माना गया है।

हाथ में कब भंग होता है मुकुट योग : जिस व्यक्ति के हाथ पर बाहरी मंगल पर्वत दबा हुआ हो या उस पर कटी फटी रेखा हो। इसके अलावा मंगल पर्वत से निकलने वाली रेखा को यदि कोई काट जाए या फिर सूर्य पर्वत पर रेखाएं एत दूसरे को काट कर ही हो तो ऐसे में मुकुट योग भंग हो जाता है और इस योग का लाभ जातक को नहीं मिल पाता है। ऐसा जातक बहुत अधिक जिद्दी होगा और साथ ही ऐसा जातक गलत प्रवृत्ति का भी होगा। माना जाता है कि इस प्रकार का व्यक्ति अपने गलत निर्णयों की वजह से जीवन में सफलता प्राप्त नहीं कर पाता और जीवन में इस तरह के लोगों को मान- सम्मान की भी प्राप्ति नहीं होती।

1. मुकुट योग में जन्मा व्यक्ति एक अच्छा खिलाड़ी बनता है। जिसकी कीर्ति देश विदेश तक फैलती है।

2. इस योग में जन्म लेने वाला व्यक्ति जीवन में सभी प्रकार के सुखों को प्राप्त करता है।

3. इन लोगों में निर्णय लेने की श्रमता भी गजब की होती है।

4. यह लोग अपने बुद्धि और बल का समान रूप से प्रयोग करके जीवन में सफलता अर्जित करते हैं।

5. जो भी मनुष्य इस योग में जन्म लेता है। वह अत्यंत ही धनी होता है।

6. मुकुट योग में जन्म लेने वाला व्यक्ति देश विदेश की यात्राएं भी करता है।

7. ऐसा जातक अपने कार्यक्षेत्र में शिखर तक पहुंचता है और प्रसिद्धि भी हासिल करता है।

8. ऐसे योग मे जन्मा व्यक्ति दृढ़ निश्चयी, कठोर स्वभाव, अनुशासन का पालन करने वाला होता है। ऐसे जातक को अपने लक्ष्य से भटकाना बहुत ही कठिन होता है।

9.मुकुट योग में जन्म लेने वाले व्यक्ति को अपने परिवार का भरपूर सहयोग प्राप्त होता है और ऐसे जातक अपने परिवार के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

10. जीवन में ऐसे लोग कभी भी अपने लक्ष्य को पूरा किए बिना चैन से नहीं बैठते।



और भी पढ़ें :