टेस्ट को सर्वोच्च रहना चाहिए : विराट कोहली

पुनः संशोधित गुरुवार, 30 नवंबर 2017 (01:09 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। दुनिया भर में क्रिकेट के लम्बे प्रारूप को बचाने को लेकर चल रही बहस के बीच भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को यहां कहा कि को सर्वोच्च रहना चाहिए।





विराट ने दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के पहले वार्षिक सम्मेलन में कहा, 'टेस्ट क्रिकेट सर्वोच्च है और युवा खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा इसे अपनाना चाहिए।





सम्मेलन में बिशन सिंह बेदी और मोहिंदर अमरनाथ सहित दिल्ली के तमाम दिग्गज क्रिकेटर मौजूद थे। इस अवसर पर पूर्व भारतीय कप्तान मंसूर अली खां पटौदी की पत्नी शर्मीला टैगोर भी मौजूद थीं। विराट ने इस मौके पर अपने अंडर 14 और अंडर 16 के दिनों को भी याद किया, जब बेदी कोच थे।






भारतीय कप्तान ने कहा, 'मेरे लिए दिल्ली के सभी कप्तानों के साथ खड़ा होना एक बड़ा सम्मान है। मैं खुद भी दिल्ली का कप्तान हूं।' ने सम्मेलन में दिल्ली के पूर्व और मौजूदा कप्तानों को सम्मानित किया।





इन कप्तानों में प्रकाश भंडारी, राजिंदर पाल , बिशन सिंह बेदी , विनय लाम्बा, वेंकट सुंदरम, सुरिंदर अमरनाथ, मोहिंदर
अमरनाथ, चेतन चौहान, राकेश शुक्ला, मदन लाल, अजय शर्मा, कीर्ति आज़ाद, सुरिंदर खन्ना, केपी भास्कर, रवि
सहगल, संजीव शर्मा, मनोज प्रभाकर, विजय दहिया, निखिल चोपड़ा, राहुल सांगवी, अजय जडेजा, अमित भंडारी, मिथुन मिन्हास, मनिंदर सिंह, वीरेंदर सहवाग, गौतम गंभीर, आकाश चोपड़ा, रजत भाटिया, शिखर धवन, विराट कोहली, उन्मुक्त चंद, ईशांत शर्मा और ऋषभ पंत शामिल थे।

डीडीसीए ने विराट को किया सम्मानित : डीडीसीए ने इस मौके परविराट कोहली को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 50 शतक पूरे करने की उपलब्धि के लिए सम्मानित किया। विराट को पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी ने विराट को स्मृति चिन्ह प्रदान किया।

विराट ने सम्मान ग्रहण करने के बाद कहा, 'बिशन सर के हाथों से यह सम्मान ग्रहण करना मेरे लिए बड़े गौरव की बात है।' विराट ने कोलकाता में श्रीलंका के खिलाफ दूसरी पारी में शतक जमाया था, जो उनका 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक था। (वार्ता)



और भी पढ़ें :