विराट कोहली के लिए कठिन चुनौती

पुनः संशोधित शुक्रवार, 28 नवंबर 2014 (10:35 IST)
हमें फॉलो करें
-वेबदुनिया डेस्क   > विराट कोहली भारतीय टीम में एक खास स्थान पर काबिज हो चुके हैं, इसमें कोई दो राय नहीं है। ऐसे में टीम के प्रदर्शन पर उनका दारोमदार रहेगा। अगर इस स्टेज पर कोहली लचर प्रदर्शन करते हैं तो क्रिकेटप्रेमियों के लिए यह बात पचाना आसान न होगा। ऑस्ट्रेलिया दौरा शुरू हो चुका है और अभ्यास मैच में ऑस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ मैच में दमदार प्रदर्शन के बाद में कोहली समेत खिलाड़ियों के चमकदार प्रदर्शन से टीम इंडिया का हौसला भी मजबूत हुआ है।   >
ऑस्ट्रेलिया में होने वाले क्रिकेट वर्ल्डकप के कुछ महीने ही शेष रह गए हैं, इस लिहाज से 4 दिसंबर से शुरू हो रही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज बहुत महत्वपूर्ण होनी वाली है। देखने वाली बात यह होगी कि धोनी की अनुपस्थिति में कोहली, जो इस टेस्ट श्रृंखला के पहले टेस्ट में टीम के कप्तान बनाए गए हैं, क्या कमाल दिखा पाते हैं।

टीम इंडिया द्वारा हाल ही में विदेशी सरजमीं पर खेली गई श्रृंखलाओं पर नजर दौड़ाई जाए तो टीम का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। इंग्लैंड में सीरीज गंवाने के अलावा सन् 2011-2012 में भी ऑस्ट्रेलिया के अंतिम दौरे में भारतीय टीम को मुंह की खानी पड़ी थी और ऑस्ट्रेलिया ने 4-0 से सीरीज जीतते हुए भारतीय टीम का सूपड़ा साफ कर दिया था।

भारतीय टीम के इस फ्लॉप शो में सिर्फ एक खिलाड़ी ऐसा था जो भारतीय दर्शकों को थोड़ा बहुत इंटरटेन कर रहा था, वे थे वर्तमान कप्तान विराट कोहली। विराट कोहली ने पूरी सीरीज में भारत की ओर से खेलते हुए 1 शतक और 1 अर्धशतक की मदद से 37.50 की औसत से सर्वाधिक 300 बनाए थे।

इस प्रदर्शन को बहुत खास तो नहीं कहा सकता है। बावजूद इसके यह माना जा सकता है कि कोहली का अनुभव टीम के काम आ सकता है। हाल ही की सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ दमदार खेल दिखाने के बाद ऑस्ट्रेलिया की तेज पिचों पर कोहली एंड कंपनी को थोड़ा हटकर खेल दिखाना होगा। कोहली के लिए इस बार ऑस्ट्रेलिया में चुनौती और भी बड़ी है। 



और भी पढ़ें :