1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Virat Kohli, Indian cricket team, England tour
Written By
पुनः संशोधित मंगलवार, 26 जून 2018 (14:44 IST)

इंग्लिश दौरे का सफल आगाज़ करने उतरेगी विराट एंड कंपनी

डबलिन। भारतीय क्रिकेट टीम फिट विराट कोहली के नेतृत्व में इंग्लैंड के लंबे दौरे पर है, जिसकी शुरुआत वह आयरलैंड के खिलाफ बुधवार को पहले टी-20 मुकाबले से करेगी जो इंग्लिश परिस्थितियों के अनुकूल ढालने के लिहाज़ से अहम साबित होगा।


भारत और आयरलैंड के बीच दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज़ होनी है जो मेहमान टीम के लिए इंग्लैंड के खिलाफ लंबी सीरीज़ से पूर्व अच्छा अभ्यास साबित हो सकती है। इंग्लैंड रवाना होने से पूर्व टीम के कप्तान विराट और कोच रवि शास्त्री ने भी आयरलैंड के खिलाफ इन मैचों को तैयारी के लिहाज़ से अहम बताया था।

पहला मैच डबलिन में 27 जून और दूसरा 29 जून को इसी मैदान पर होगा। भारतीय टीम इंग्लैंड को लेकर काफी गंभीर है, जो बेहतरीन लय में है और हाल में उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5-0 की क्लीन स्वीप के बाद खुद की स्थिति को और मजबूत किया है। टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी सीरीज़ से पूर्व जमकर अभ्यास कर रहे हैं, जिसका भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने वीडियो भी साझा किया है।

टीम इंडिया के लिए सबसे राहत की बात उसके कप्तान विराट की फिटनेस है जो आईपीएल के बाद अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट और इंग्लिश काउंटी में फिटनेस समस्या के चलते नहीं खेल पाए थे। हालांकि रवाना होने से पहले उन्होंने साफ किया कि वे अब पूरी तरह फिट हैं।

बल्लेबाज़ी क्रम में विराट, रोहित शर्मा, शिखर धवन और विकेटकीपर बल्लेबाज़ महेंद्र सिंह धोनी टीम की ताकत हैं। हाल में आईपीएल में भी इन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया था। गेंदबाजों में तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार तथा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या अहम हैं। टीम के सभी खिलाड़ी अलग-अलग ग्रुपों में अभ्यास कर रहे हैं, जिसमें बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी के साथ टीम का ध्यान फील्डिंग पर भी है।

इसके अलावा स्विंग गेंदबाज़ी भी टीम के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रह सकती है, जो विराट ने भी माना था कि सभी खिलाड़ियों के लिए मुश्किल हो सकती है। विराट ने आयरलैंड मैच से पूर्व नेट पर लोकेश राहुल के साथ स्पिन और तेज़ गेंदबाजी का भी काफी अभ्यास किया है। राहुल टी-20 टीम का नियमित हिस्सा रहे हैं और दक्षिण अफ्रीका दौरे के बाद यह पहला मौका है जब भारतीय टीम के सभी बड़े खिलाड़ी सीरीज़ में उतर रहे हैं।

इससे पहले विराट, भुवी, जसप्रीत बुमराह और धोनी श्रीलंका के खिलाफ टी-20 त्रिकोणीय सीरीज़ से बाहर रहे थे। टीम में सिद्धार्थ कौल भी शामिल हैं, जिन्हें अब तक टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने का मौका नहीं मिला है, जबकि यादव ने अपना एकमात्र टी-20 मैच वर्ष 2012 में श्रीलंका के खिलाफ खेला है। ऐसे में आयरलैंड के खिलाफ कुमार या बुमराह में से किसी एक को बाहर बैठाकर यादव या कौल को मौका दिया जा सकता है।

भारत और आयरलैंड के बीच ज्यादा मुकाबले नहीं खेले गए हैं और वर्ष 2007 के बाद यहां पहली बार भारतीय टीम दौरे पर पहुंची है। दोनों टीमों के बीच कुल चार बार सीमित ओवर प्रारूप मैच खेले गए हैं जिनमें 2011 और 2015 वनडे विश्वकप में तीन मैच और 2009 में टी-20 विश्वकप में एकमात्र मैच खेला गया था। भारत ने आयरलैंड से अपना टी-20 मैच नॉटिंघम में आठ विकेट से जीता था, जिसमें रोहित ने नाबाद अर्धशतक बनाया था। उम्मीद रहेगी कि वे दोबारा इसी प्रदर्शन को दोहराएं।

आयरलैंड की टीम में कप्तान गैरी विल्सन, विलियम पोर्टरफील्ड और ऑलराउंडर केविन ओ ब्रायन पर निगाहें रहेंगी, जो भारतीय टीम के खिलाफ पहले भी खेल चुके हैं। इसके अलावा भारतीय मूल के ऑफ स्पिनर सिमरनजीत सिंह से भी मेहमान टीम के खिलाफ अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है। (वार्ता) 
ये भी पढ़ें
FIFA WC 2018: ब्राजील के ‘डर’ का फायदा उठाने उतरेगा सर्बिया