WTC फाइनल से पहले केन विलियमसन का नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज का ताज छिना, कोहली चौथे स्थान पर

Last Updated: बुधवार, 16 जून 2021 (23:34 IST)
अप्रैल के महीने में वनडे में अपनी पहली रैंक खो चुके विराट कोहली अब टेस्ट रैंकिंग में चौथे स्थान पर पहुंच चुके हैं। हालांकि वह पांचवे से चौथे स्थान पर जरूर आए हैं लेकिन इसका श्रेय उनकी बल्लेबाजी को कम और के जो रूट की खराब बल्लेबाजी को ज्यादा मिलना चाहिए। के खिलाफ जो रूट 2 टेस्ट मैचों की 4 पारियों में 24 की औसत से मात्र 97 रन बना पाए। वह एक भी अर्धशतक लगाने में नाकाम रहे। इस कारण उनके कुल अंक 797 हो गए और वह विराट कोहली के कुल अंक 814 से रैंकिंग में नीचे चले गए।।

बहुत बड़ा नुकसान तो फाइनल में उनके प्रतिद्वंद्धी कप्तान को हुआ है। केन विलियमसन को बल्लेबाजों की रैंकिंग पर नंबर 1 का स्थान खाली करना पड़ा है और ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ 891 अंकों के साथ नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज बन गए हैं।

केन विलियमसन भी इंग्लैंड के खिलाफ फ्लॉप रहे और 1 टेस्ट मैच में महज 14 रन बना सके। दूसरे टेस्ट में वह चोट के चलते बाहर थे।इस कारण उनके कुल अंक 886 हो गए हैं।

गौरतलब है कि पिछली बॉर्डर गावस्कर सीरीज में स्टीव स्मिथ ने पहले दो टेस्ट में लचर प्रदर्शन के कारण अपनी नंबर 1 रैंक गंवानी पड़ी थी।करीबन उस ही समय केन विलियमसन टेस्ट की नंबर 1 रैंक पर पहुंचे थे। 6 महीने बाद अब दोनों की रैंकिंग अदल बदल गई हैं।

रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच के प्रदर्शन को भी जोड़ा गया है। इसके आधार पर दक्षिण अफ्रीका क्विंटन डी कॉक बल्लेबाजी रैंकिंग में के चेतेश्वर पुजारा के साथ 12वें स्थान पर पहुंच गए हैं, जबकि उनके हमवतन एड्रियन मार्करम को दो स्थानों का फायदा हुआ है और वह 14वें नंबर पर आ गए हैं।

गेंदबाजी रैंकिंग की बात करें तो इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे और अंतिम टेस्ट मैच में प्लेयर ऑफ द मैच रहे मैट हेनरी करियर के सर्वश्रेष्ठ 307 रेटिंग अंकों के साथ 64वें स्थान पर पहुंच गए हैं, जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर एजाज पटेल को भी करियर के सर्वश्रेष्ठ 323 रेटिंग अंक मिले हैं। दोनों टेस्ट मैचों में न्यूजीलैंड के स्टार खिलाड़ी रहे डेवोन कॉनवे बल्लेबाजी रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया जो बर्न्स के साथ संयुक्त रूप से 61वें स्थान पर हैं।

इंग्लैंड के डैन लॉरेंस को दूसरे टेस्ट की पहली पारी में नाबाद 81 रनों की बदौलत 16 स्थानों की फायदा हुआ है और वह करियर के सर्वश्रेष्ठ 396 अंकों पर पहुंच गए हैं।

पूर्व नंबर एक टेस्ट गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका के कैगिसो रबादा दो स्थानों के फायदे के साथ गेंदबाजी रैंकिंग में सातवें स्थान पर पहुंच गए हैं। वहीं उनके हमवतन एनरिक नोर्त्जे ने करियर में पहली बार टॉप 30 में प्रवेश किया है, जबकि लुंगी एनगिदी 14 स्थानों की छलांग लगा कर 44वें नंबर पर पहुंच गए हैं।

दो साल से नहीं आया कोहली के बल्ले से शतक

वहीं रन मशीन विराट कोहली की खासियत है उनका कंसिस्टेंट प्रदर्शन। मगर बीते 2 सालों से विराट का बल्ला शतक नहीं लगा सका है। विराट का आखिरी शतक नवंबर 2019 में कोलकाता के इडन गार्डन में बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए डे-नाइट टेस्ट
में आया था। इसके बाद से अब तक किसी भी फॉर्मेट में कोहली शतक नहीं लगा सके हैं।

विराट कोहली हाल ही में इंग्लैंड से हुई 4 टेस्ट मैचौं की सीरीज में एक भी शतक नहीं लगा पाए और सिर्फ 2 बार अर्धशतक जमा पाए। यही नहीं 2 बार तो वह अपना खाता भी नहीं खोल पाए। विराट कोहली टेस्ट सीरीज में 4 मैच की 6 पारियों में 28 की औसत से सिर्फ 172 रन ही बना पाए। यह देखने वाली बात होगी कि चैंपियनशिप फाइनल में विराट के शतक का सूखा खत्म होता है या नहीं।



और भी पढ़ें :