पेसर उम्मीद न पालें, स्विंग की नहीं है गारंटी, कभी भी धोखा दे सकती है गुलाबी गेंद

Last Updated: रविवार, 21 फ़रवरी 2021 (00:50 IST)
अहमदाबाद: आमतौर पर शाम के वक्त काफी मूव करती है लेकिन भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने शनिवार को कहा कि यहां मोटेरा स्टेडियम में दूधिया रोशनी में खेले जाने वाले पहले टेस्ट में एसजी गेंद कितनी स्विंग करेगी, इसकी भविष्यवाणी करना मुश्किल है।
भारत ने चेपॉक की टर्निंग पिच पर दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 317 रन से हराकर चार मैचों की श्रृंखला में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली और अब सभी की निगाहें 24 फरवरी से यहां शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट की पिच पर लगी हैं।भारत को गुलाबी गेंद से खेलने का ज्यादा अनुभव नहीं है और उसने केवल दो मैच खेले हैं।

पुजारा ने पहले नेट सत्र के बाद वर्चुअल मीडिया कांफ्रेंस में कहा, ‘‘विशेषकर इस टेस्ट में गेंद कितनी स्विंग होगी, हम इसके बारे में निश्चित नहीं हैं। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘शुरू में यह थोड़ा स्विंग कर सकती है, लेकिन जैसे मैच आगे बढ़ेगा, यह शायद ज्यादा स्विंग नहीं करे, लेकिन गुलाबी गेंद के बारे में हम कुछ नहीं कह सकते, इसकी भविष्यवाणी करना काफी मुश्किल है। ’’

पुजारा ने कहा कि पिच उन्हें ठीक लग रही है लेकिन यह बदल भी सकती है क्योंकि टेस्ट शुरू होने में अभी तीन-चार दिन का समय बचा है।

उन्होंने कहा, ‘‘लाल गेंद से यह अलग तरह का मैच होगा। लेकिन गुलाबी गेंद से मैच शुरू होने से पहले कुछ भी कहना या आकलन करना बहुत मुश्किल है क्योंकि कभी कभार आप किसी अन्य चीज की उम्मीद करते हो और गुलाबी गेंद से कुछ और ही हो जाता है। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘बतौर खिलाड़ी मैं चीजों को बहुत ही सरल रखने की कोशिश करूंगा और पिच की ज्यादा फिक्र नहीं करूंगा। ’’

पुजारा ने कहा, ‘‘मैंने कई टेस्ट मैच खेले हैं लेकिन गुलाबी गेंद से मुझे ज्यादा अनुभव नहीं है। मुझे नहीं लगता कि जब आप एक टेस्ट श्रृंखला में गुलाबी गेंद से केवल एक ही मैच खेल रहे हो तो इसमें अनुभव मायने रखता है। ’’(भाषा)



और भी पढ़ें :