सचिन, सहवाग और रोहित के दोहरे शतक में समानताएं

Last Updated: शुक्रवार, 14 नवंबर 2014 (16:29 IST)
हमें फॉलो करें
-वेबदुनिया डेस्क  > सचिन ने जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फरवरी 2010 ग्वालियर में 200 रन बनाए थे, तब भारत ने यह मैच 153 रनों के अंतर से जीता था। जब वीरेंद्र सहवाग ने दिसंबर 2011 वेस्टइंडीज़ के खिलाफ में इंदौर में 219 रनों की पारी खेली थी, तब भी भारत ने यह मैच 153 रनों के अंतर से जीता था और गुरुवार को जब रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में 264 रन बनाए तो भी भारत ने यह मैच 153 रनों के अंतर से जीता।>
इसके अलावा जब इन तीनों भारतीय बल्लेबाजों ने तिहरे शतक लगाए तब भारतीय टीम ने 400 रनों के स्कोर को पार किया। सचिन ने जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फरवरी 2010 ग्वालियर में 200 रन बनाए थे तब भारतीय टीम ने 401 रन बनाए। जब वीरेंद्र सहवाग ने दिसंबर 2011 वेस्टइंडीज़ के खिलाफ में इंदौर में 219 रनों की पारी खेली थी, तब भी भारत ने 418 रनों का स्कोर खड़ा किया, जो भारत का वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर है। और गुरुवार को जब रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में 264 रन बनाए तो भी भारतीय टीम ने 404 रन बनाए।

वनडे क्रिकेट में सभी चार दोहरे शतक भारतीय बल्लेबाजों ने लगाए हैं और ये भारतीय सरज़मीं पर बने हैं। अब तक बने चारों दोहरे शतक के दौरान दो भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली और सुरेश रैना अनिवार्य रूप से टीम में शामिल रहे।

चारों दोहरे शतक लगभग चार साल के अंतराल में बने। भारतीय टीम ने 400 रनों के स्कोर को अलग-अलग कप्तान की कप्तानी में पार किया। जब सचिन ने 200 रन बनाए तो टीम की कमान महेंद्रसिंह धोनी के हाथों में थी। जब सहवाग ने इंदौर में 2019 रन बनाए तो वे खुद टीम के कप्तान थे और कोलकाता वनडे में टीम की कमान विराट कोहली के हाथों में थी। (एजेंसियां)



और भी पढ़ें :