रोहित की चोट पर से सस्पेंस खत्म, पहले टी-20 में खेलेंगे भारतीय कप्तान

Last Updated: शुक्रवार, 1 नवंबर 2019 (23:38 IST)
नई दिल्ली। बांग्लादेश के खिलाफ दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में 3 नवंबर को खेले जाने वाले पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में कप्तान रोहित शर्मा को लगी के कारण उनके खेलने पर लगा सस्पेंस देर रात खत्म हो गया। उन्हें मैच के लिए 'फिट और उपलब्ध' घोषित किया गया है।
ALSO READ:
कप्तान रोहित शर्मा अभ्यास सत्र में घायल, चोट के बारे में टीम मैनेजमेंट चुप
विराट कोहली की अनुपस्थिति में 3 मैचों की टी-20 श्रृंखला में भारत की अगुआई करने वाले रोहित को नेट सत्र के दौरान थ्रोडाउन का सामना करते हुए गेंद उनके पेट के बाएं हिस्से में लगी थी और टीम मैंनेजमेंट शाम तक यह कहने की स्थिति में नहीं था कि यह चोट कितनी गहरी है।
बीसीसीआई के मीडिया मैनेजर ने टीम की तरफ से जारी बयान में कहा कि शु्क्रवार को नेट में बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा के पेट के बाएं हिस्से में गेंद लगी। बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनकी चोट की जांच करने के बाद पुष्टि करती है कि वे पहले टी-20 के लिए फिट और उपलब्ध हैं।
भारतीय टीम ने श्रीलंका के नुवान के रूप में बाएं हाथ के थ्रोडाउन विशेषज्ञ को रखा है ताकि खिलाड़ी प्रतिद्वंद्वी टीम के बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों का सामना करने की तैयारी कर सकें।
बांग्लादेश के पास मुस्तफिजुर रहमान के रूप में बाएं हाथ का अनुभवी तेज गेंदबाज है। आमतौर पर बल्लेबाज नेट में गेंदबाजों का सामना करने से पहले लय हासिल करने के लिए थ्रोडाउन का सामना करते हैं।
पता चला था कि रोहित गेंद लगने के बाद उपचार करा रहे थे और उन्होंने इसके बाद नेट सत्र में हिस्सा नहीं लिया। अभ्यास सत्र से संकेत मिले कि संजू सैमसन विकेटकीपर की भूमिका नहीं निभाएंगे, क्योंकि उन्हें अन्य खिलाड़ियों के साथ क्षेत्ररक्षण करते देखा गया।

टीम की पहली पसंद ऋषभ पंत ने विकेटकीपिंग का अतिरिक्त अभ्यास किया। सभी की निगाहें मुंबई के 'बिगहिटर' ऑलराउंडर शिवम दुबे पर लगी थीं, जो मुख्य कोच रवि शास्त्री से बात करते देखे गए।



और भी पढ़ें :