रोहित शर्मा के लिए ऑस्ट्रेलिया में चमकना जरूरी

वेबदुनिया डेस्क    > रोहित शर्मा भारतीय टीम के बड़े चेहरे हैं। हाल ही में वन डे का दोहरा शतक जड़ने के बाद दर्शकों का उन पर विश्वास और भी अटल हो गया है। सन् 2013 में अपने पर्दापण टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक जमाने वाले रोहित शर्मा पिछले कुछ दिनों से बेहतरीन फॉर्म में हैं। वन डे में अपना लोहा मनवाने के बाद दर्शकों को रोहित से आगामी टेस्ट सीरीज में भी जुझारू पारी की उम्मीद रहेगी।>
हालांकि उतार-चढ़ाव वाला रहा है, पर्दापण के बाद खराब प्रदर्शन के चलते कई बार बाहर उन्हें टीम से बाहर का रास्ता देखना पड़ा। बावजूद इसके घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के दम पर उन्होंने हर बार वापसी की। पिछले दिनों चोटिल होने के बाद वापसी करने के साथ ही उन्होंने आते ही दोहरा शतक जड़कर आलोचकों के मुंह बंद कर दिया।      

ऐसे में ऑस्ट्रेलिया दौरे में उनके प्रदर्शन पर काफी दारोमदार रहेगा। दरअसल रोहित शर्मा को ज्यादा टेस्ट मैच खेलने का मौका नहीं मिला है, अभी तक उन्होंने मात्र 7 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें 48.90 की बढ़िया औसत से 489 रन बना चुके हैं जिसमें 2 शतक और एक अर्धशतक शामिल है।

रोहित के हाल ही में वन-डे का दोहरा शतक बनाने के बाद वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रायन लारा ने उम्मीद जताई है कि रोहित उनका टेस्ट में 400 रन का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। दरअसल ऑस्ट्रेलिया सीरीज 4 दिसंबर से शुरू होने वाली है और रोहित बेहतरीन फॉर्म में भी है ऐसे में रोहित से यह उम्मीद भी की जा सकती है। दरअसल 2007-2008 के ऑस्ट्रेलिया दौरे में रोहित शर्मा भारतीय टीम में शामिल थे इसके अलावा विदेशी सरजमीं पर खेलने का उन्हें अनुभव भी है। अगर वे ऑस्ट्रेलिया दौरे में सफल होते हैं तो उनका करियर ग्राफ तेज़ी से ऊपर जाएगा। यह रोहित के लिए बेहद महत्वपूर्ण दौरा है और यहां उनके बल्ले का रंग उगलना जरूरी है।



और भी पढ़ें :