भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन की 10 खास बातें

अतुल शर्मा|
में खेले जा रहे तीसरे का तीसरा दिन भारतीय बल्लेबाजों के नाम रहा। कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत ने के गेंदबाजों के छक्के छुड़ा दिए। विराट के शानदार से टीम इंडिया मजबूत स्थिति में पहुंच गई है।

मैच के तीसरे दिन भारत ने दूसरी पारी 7 विकेट के नुकसान पर 352 रन बनाकर घोषित कर दी और 520 रनों की बढ़त ले ली। भारत की ओर से इंग्लैंड को जीत के लिए 521 रनों का लक्ष्य मिला। लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक बिना किसी नुकसान के 23 रन बना लिए थें। जानिए इस रोमांचक मुकाबले के मु्ख्य बिंदु...

1. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 23वां और इस टेस्ट सीरीज का दूसरा शतक जड़ा। चेतेश्वर पुजारा ने भी अपने टेस्ट करियर का 18वां अर्द्धशतक लगाया।

2. कोहली अपनी इस पारी के दौरान इंग्लैंड में टेस्ट श्रृंखला में 400 या इससे अधिक रन बनाने वाले भारत के छठे बल्लेबाज बने। उनसे पहले राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर (दोनों 2-2 बार) के अलावा मोहम्मद अजहरुद्दीन, सुनील गावस्कर और मुरली विजय यह उपलब्धि हासिल कर
चुके हैं।

3. कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने तीसरे विकेट के लिए 113 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई जिससे भारत का स्कोर दूसरी पारी में सम्मानजनक स्थिति में पहुंचा।
4. हार्दिक पंड्या ने भी 52 गेंदों में 7 चौकों और 1 छक्के की मदद से नाबाद 52 रनों की तेज पारी खेली।

5. भारतीय टीम से दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरे सभी खिलाड़ियों में हार्दिक पंड्या ही एकमा‍त्र ऐसे थे, जिन्होंने 1 छक्का लगाया।

6. इंग्लैंड टीम की ओर से आदिल रशीद ने 101 रन देकर भारत के 3 बल्लेबाजों को आउट कर पैवेलियन का रास्ता दिखाया।

7. 5 दिवसीय क्रिकेट के इतिहास में कोई टीम चौथी पारी में 451 से अधिक रन नहीं बना पाई है। यह रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम दर्ज है, जिसने मार्च 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में 451 रन बनाए थे।
8. इंग्लैंड में चौथी पारी में सर्वाधिक रन का रिकॉर्ड भी न्यूजीलैंड के नाम दर्ज है, जिसने नॉटिंघम में ही मार्च 1973 में इंग्लैंड के खिलाफ 440 रन बनाए थे।

9. इंग्लैंड की टीम स्वदेश में चौथी पारी में कभी 6 विकेट पर 369 रन से अधिक नहीं बना सकी है। उसने यह स्कोर भारत के खिलाफ ही लंदन के द ओवल में अगस्त 2007 में बनाया था।

10. जेम्स एंडरसन (55 रन पर 1 विकेट) ने सुबह के सत्र में शानदार गेंदबाजी की और बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया। उन्होंने पहले घंटे में 7 ओवरों में 3 मेडन फेंकते हुए सिर्फ 7 रन दिए।




और भी पढ़ें :