बार बार लाइटो-मीटर निकालने पर अंपायर नितिन मेनन आए ट्रोलर्स के निशाने पर, अश्विन ने भी कसा तंज

पुनः संशोधित सोमवार, 29 नवंबर 2021 (18:44 IST)
के ग्रीन पार्क में खेला गया भारत बनाम न्यूजीलैंड का पहला मैच दर्शकों में लगातार रोमांच पैदा करता रहा। लगभग 9 ओवर तक न्यूजीलैंड की अंतिम जोड़ी ने भारतीय गेंदबाजों के सामने अंगद की तरह पैर जमा कर रखा और यह सुनिश्चित किया कि सीरीज का स्कोर 0-1 ना हो। > हालांकि इसमें अंपायर की खासी किरकिरी हुई। दरअसल मैच के अंतिम क्षणों में नितिन मेनन बार बार लाइटो मीटर निकालकर रोशनी की जांच कर रहे थे। इस दौरान काफी समय बर्बाद हुआ। क्रिकेट फैंस को मेनन का हर ओवर बाद लाइट चेक करना पसंद नहीं आया और ट्विटर पर उनकी अच्छी खासी ट्रोलिंग हुई।> समय होता तो मैच ख़त्म कर देते :अश्विन

भारतीय ऑफ स्पिनर ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच पांचवें और अंतिम दिन सोमवार को ड्रा हो जाने के बाद कहा कि हम चीज़ों को नियंत्रण में रख रहे थे और अच्छी जगह पर गेंदबाज़ी कर रहे थे। हम जानते थे कि अगर हमारे पास समय होता तो हम मैच को ख़त्म कर देते। लेकिन इस पूरे टेस्ट मैच में यही सिलसिला रहा है और ख़राब रोशनी के कारण खेल जल्दी समाप्त हुआ है।समय की बात करके अश्विन का इशारा नितिन मेनन की तरफ ही लग रहा है।

आश्विन ने मैच के बाद कहा ,'टेस्ट क्रिकेट में आपको सिर्फ़ चार ओवर गेंदबाज़ी नहीं करनी होती। यह एक लंबा प्रारूप है और मैं इसे खेलते रहना चाहता हूं। हरभजन सिंह से आगे जाना एक अच्छी बात है। जब से राहुल भाई कोच बने हैं, उन्होंने यही कहा है कि आप जितने भी रन बना लो या विकेट ले लो, 10 साल बाद आपको यह याद नहीं रहेगा, सिर्फ़ यादें रह जाएगी।'

ग्रीन पार्क की पिच के लिए ऑफ स्पिनर ने कहा,'हमेशा पिच के बारे में सवाल उठाए जाते है लेकिन अंतिम सेशन के आख़िरी ओवर तक मैच का जाना एक अच्छी बात है। एक नया खिलाड़ी आकर इस तरह से मैच बचाता है वह बहुत अच्छी बात है। टेलएंडरों को आउट करना आसान नहीं होता। यह दर्शाता है कि आजकल सभी बल्लेबाज़ अपने डिफ़ेंस पर भरोसा करते हैं।'



और भी पढ़ें :