मशरफी मुर्तजा ने कहा, संन्यास की तरफ धकेलने की कोशिश से आहत हूं

Last Updated: शुक्रवार, 5 जून 2020 (21:14 IST)
ढाका। के मशरफी मुर्तजा ने एक-दो टूर्नामेंटों में खराब प्रदर्शन के बाद बोर्ड पर लेने के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उन्हें इसके लिए का प्रस्ताव भी दिया गया। मुर्तजा ने कहा कि वह अपनी उपलब्धियों के प्रति ‘सम्मान की कमी’ से आहत हुए हैं।

उन्होंने ‘क्रिकबज’ से कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो ऐसा लग रहा है कि मुझे विदाई देने की जल्दबाजी है और यह निश्चित रूप से दुखद है।’ उन्होंने मैच के बारे में बात से बचते हुए कहा, ‘पहले उन्हें मेरे लिए विदाई मैच का आयोजन करना था और यह सामान्य मैच नहीं था। एक सामान्य द्विपक्षीय श्रृंखला की बात कुछ और है और एक विशेष मैच की व्यवस्था करना कुछ और है।’

उन्होंने कहा, ‘इसके बाद वे इस मैच पर दो करोड़ बांग्लादेश टका खर्च करना चाहते थे। नैतिक दृष्टिकोण से यह विचार सही नहीं है क्योंकि हमारे प्रथम श्रेणी के क्रिकेट खिलाड़ियों को पर्याप्त भुगतान नहीं हो रहा है।’ 36 साल का यह गेंदबाज बांग्लादेश के सबसे सफल कप्तान में से एक है। विश्व कप (2019) में हालांकि उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा था, जहां पूरे टूर्नामेंट में वह सिर्फ एक विकेट ले सके थे।

हाल ही में कोच रसेल डोमिंगो ने कहा था कि वह अपनी भविष्य की योजना में मुर्तजा को नहीं देखते हैं। मुर्तजा ने कहा, ‘अचानक से मुझे बाहर निकालने की कोशिश की जाने लगी है। मुझे केवल इतना पता है कि मैंने अपना पूरा जीवन क्रिकेट को दिया है। इससे मैं आहत हूं।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :