चोटिल नहीं हैं स्टार्क लेकिन ICC के इस जरा से नियम के कारण गेंदबाजी की नहीं मिल सकती हरी झंडी

Last Updated: शनिवार, 18 जून 2022 (11:51 IST)
हमें फॉलो करें
पल्लेकेल:एक हफ्ते में चार चोट की घटनाओं के बाद श्रीलंका दौरे पर गयी ऑस्ट्रेलिया के सामने पहले ही तेज गेंदबाजों की किल्लत थी, और टी20 सीरीज के दौरान के चोट लगने से कंगारुओं की मुसीबतें और बढ़ गयी हैं।

ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष गेंदबाज़ स्टार्क को तीसरे टी20 मैच में गेंदबाज़ी करते हुए बाएं हाथ की उंगली में चोट आ गयी थी। स्टार्क के गेंदबाज़ी हाथ में छह टांके लगे हैं और हालांकि वह गेंदबाज़ी कर पा रहे हैं, लेकिन आईसीसी नियमों के अनुसार वह मैच में गेंदबाज़ी नहीं कर सकते।

आईसीसी नियमों के अनुसार खिलाड़ी अंपायर की अनुमति से हाथों या उंगलियों को ढक सकते हैं। कई बार फील्डर ऐसा करते भी हैं, लेकिन गेंदबाजों के लिये क्रिकेट काउंसिल के नियम सख्त हैं।अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल द्वारा मैच अधिकारियों के लिये जारी दिशानिर्देशों के अनुसार गेंदबाजों के गेंदबाजी हाथ की उंगलियों पर टेप लगाना सख्त मना है।

उल्लेखनीय है कि यदि गेंदबाज को मैच के दौरान चोट लगती है तो वह उस मैच में टेप के साथ गेंदबाजी कर सकता है। स्टार्क को पहले टी20 के दौरान चोट लगी थी, और उन्होंने अपने चार ओवर का कोटा पूरा करते हुए 26 रन के बदले तीन विकेट लिये।

चोटिल स्टार्क को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की कोई जल्दी नहीं

ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क अभी भी श्रीलंका के ख़िलाफ़ वनडे श्रृंखला में शामिल होने की उम्मीद कर रहे हैं, लेकिन वह इसके लिए टेस्ट क्रिकेट में खेलने की संभावनाओं से समझौता नहीं करना चाह रहे हैं।

श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेली गई टी20 सीरीज़ के पहले मैच में स्टार्क के उंगलियों में चोट लग गई थी। 32 वर्षीय स्टार्क हाल के दिनों में ट्रेनिंग के दौरान पूरी ताक़त के साथ गेंदबाज़ी करने में सक्षम रहे हैं, लेकिन आईसीसी के नियमों के अनुसार गेंदबाज़ अपनी उंगलियों पर टेप का इस्तेमाल नहीं कर सकते। इसी कारण से स्टार्क फ़िलहाल मैदान पर वापसी नहीं कर पा रहे हैं।

गुरुवार को स्टार्क ने उंगलियों से टांके हटा दिए थे। हालांकि वह पूरी तरह से फ़िट हैं या नहीं इसका पता तब चलेगा जब वह तीसरे वनडे में खेलते हैं। अगर वह नहीं खेलते हैं तो इसका मतलब होगा कि अभी भी वह पूरी तरह से फ़िट नहीं हैं। वह पांच मैचों की वनडे श्रृंखला में कम से कम कुछ मैच खेलने के लिए आशान्वित हैं, लेकिन वापसी को लेकर वह किसी तरह की जल्दबाज़ी नहीं करना चाहते ताकि वह टेस्ट क्रिकेट में शामिल हो सकें।

वनडे श्रृंखला में खेलने की अपनी संभावनाओं के बारे में स्टार्क ने कहा, 'मैं अभी भी उम्मीद कर रहा हूं कि मुझे इस श्रृंखला में खेलने का मौक़ा मिल सकता है। चोट अभी पूरी तरह से ठीक नहीं हुई है। यह अगले कुछ दिनों में थोड़ा बेहतर हो जाएगा। एक बार जब हम कोलंबो पहुंचेंगे तो फिर से चेक अप के बाद पता चल पाएगा कि चोट में कितनी बेहतरी आई है। मैं अभी भी प्रशिक्षण ले रहा हूं। ज़ाहिर तौर पर टेस्ट सीरीज पर भी मेरी नज़र है और इससे मैं कोई समझौता नहीं करना चाहता हूं।'

स्टार्क ने कहा कि मुझे महसूस हो रहा है कि मैं फ़िट हूं लेकिन इसके बावजूद मैं मैदान पर वापसी नहीं कर पा रहा हूं। यह बहुत निराशजनक है। 'मैं नेट्स में बढ़िया गेंदबाज़ी कर रहा हूं। मुझे टेप के साथ प्रशिक्षण में गेंदबाजी करनी पड़ी रही है। आईसीसी के नियमों के कारण में उंगलियों में टेप लगा कर गेंदबाज़ी नहीं कर सकता। इसलिए मैं नहीं खेल रहा हूं।'(वार्ता)



और भी पढ़ें :